बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

वीआईपी प्रमुख ने किया बड़ा खुलासा, कहा- पार्टी की विलय करने का भाजपा ने दिया था ऑफर, 2025 में सीएम बनाने का किया था वादा

वीआईपी प्रमुख ने किया बड़ा खुलासा, कहा- पार्टी की विलय करने का भाजपा ने दिया था ऑफर, 2025 में सीएम बनाने का किया था वादा

PATNA: ' सन ऑफ मल्लाह ' के नाम से चर्चित विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रमुख मुकेश सहनी सोमवार को अपने निषाद आरक्षण संकल्प यात्रा के क्रम में वैशाली जिला पहुंचे। इस दौरान उन्होंने लोगों को उत्साहित करते हुए कहा कि सभी निषादों के घरों में खुशहाली पहुंचाने के लिए संघर्ष करना है, लड़ाई लड़नी है। पूर्व मंत्री और वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी ने वैशाली जिला में 'निषाद आरक्षण संकल्प यात्रा' को शुभारंभ पर दुलौर में संकल्पित जनसैलाब को संबोधित किये।

उन्होंने अपने उद्देश्यों को साझा करते हुए साफ लहजे में कहा कि बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखंड के 5 करोड़ निषाद समाज के हर परिवार को मुस्कान आएं, उन सभी के लिए आरक्षण सुनिश्चित करना है।वहीं उन्होंने विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष बनाए गए हरि सहनी की ओर इशारा करते हुए कहा कि भाजपा ने अभी एक व्यक्ति को आगे किया है, लेकिन 4 करोड़ 99 लाख 99 हजार 999 आज भी वंचित हैं। उसके लिए हम सभी को संघर्ष करना है और लड़ाई लड़ना है।

उन्होंने कहा कि निषाद आरक्षण संकल्प यात्रा को अभी 23 दिन ही पूर्ण हुआ है और दिल्ली की सरकार हिलने लगी है। समाज को गुमराह करने के लिए षड़यंत्र रचने लगी है। लेकिन, उन्हें पता होना चाहिए कि अब निषाद का बेटा न गुमराह होगा, न टूटेगा। अब जो हमारी सुनेगा उसकी ही हम सुनेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने ऑफर दिया था कि पार्टी का विलय कर लें 2025 में सीएम उम्मीदवार बनाएंगे। लेकिन हमे अपनी झोपड़ी का ही राजा बनना है, भाजपा के महल का चपरासी नहीं बनना है। उन्होंने कहा कि हमें लीडर बनना है लोडर नहीं बनना। 

सहनी ने कहा कि, साफ लहजे में कहा कि अब बिहार में नीतीश फैक्टर नहीं रहे, सन ऑफ मल्लाह फैक्टर हो गया है। अगर नीतीश कुमार फैक्टर होता तो सम्राट चौधरी को हटाकर हरि सहनी को नेता प्रतिपक्ष नहीं बनाया जाता। इस दौरान सहनी ने आने वाली पीढ़ी के भविष्य के लिए तथा सभी निषादों के घरों में खुशहाली पहुंचाने के लिए उपस्थित हजारों लोगों के हाथों में गंगा जल लेकर पूर्वजों और अपने कुल देवता को साक्षी मानकर संकल्प कराया। आज की यात्रा की शुरुआत दुलौर से शुरू हुई उसके बाद यह यात्रा महिपुरा घाट, भरुई चौक, राघोपुर नरसंडा, पातेपुर, चकनसीर चौक, मजीदिया हाई स्कूल, कुलपुरा पंचायत होते हुए महुआ गांधी चौक पहुंची। सभी स्थानों पर बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे और श्री सहनी का दिल खोलकर स्वागत किया।

Suggested News