बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

सीएम नीतीश ने क्यों नहीं मांगा मोदी से बड़ा मंत्रालय? सबसे मजबूत सहयोगी होने के बाद भी रहे चुप, आखिर क्या है पर्दे के पीछे की कहानी... सियासी पर्दा खोलता सच जानिए...

सीएम नीतीश ने क्यों नहीं मांगा मोदी से बड़ा मंत्रालय? सबसे मजबूत सहयोगी होने के बाद भी रहे चुप, आखिर क्या है पर्दे के पीछे की कहानी... सियासी पर्दा खोलता सच जानिए...

PATNA: लोकसभा चुनाव के परिणाम सबके सामने हैं। केंद्र में तीसरी बार मोदी सरकार बन चुकी है। हालांकि इस बार बीजेपी बहुमत साबित करने से चूक गई। ऐसे में केंद्र में तीसरी बार बीजेपी की सरका बनाने के लिए पीएम मोदी को एनडीए के घटक दल के दो बड़ी पार्टी टीडीपी और जदयू की जरुरत पड़ी है। पीएम मोदी ने तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ले ली है। साथ ही उनके कैबिनेट में 72 मंत्रियों ने भी शपथ ली। चुकि टीडीपी और जदयू दोनों सरकार बनाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। ऐसे में माना जा रहा था कि सीएम नीतीश अपनी पंसद का मंत्रालय मांगेंगे। कुछ खबरें भी सामने आई की जदयू की ओर से रेल और कृषि जैसे अहम मंत्रालय मांगे गए हैं। हालांकि ऐसा कुछ नहीं हुआ।



दरअसल, बिहार से इस बार केंद्र में 8 मंत्री बनाए गए हैं। जिसमें जदयू से दो, भाजपा से चार, लोजपा(रा) से एक और हम से एक। इनमें से चार कैंद्रीय मंत्री बनाए गए हैं तो वहीं चार केंद्रीय राज्यमंत्री। वहीं अब अपनी पार्टी बनाकर बिहार की राजनीति में एंट्री में लेने वाले जन सुराज मुहिम के सूत्रधार और राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने सीएम नीतीश पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने सीएम नीतीश के द्वारा पीएम मोदी से बड़ा मंत्रालय क्यों नहीं मांगा गया है इस राज से पर्दा उठाया है। 



मालूम हो कि, प्रशांत किशोर 2025 में अपनी पार्टी के साथ बिहार विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं। ऐसे में वे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साध रहे हैं। प्रशांत किशोर आए दिन बिहारवासियों को बता रहे हैं कि नीतीश कुमार बिहार को अंधकार में डाल रहे हैं। वहीं, अब प्रशांत किशोर ने उस राज से भी पर्दा उठा दिया कि नीतीश ने जदयू के लिए केंद्र में कोई बड़ा मंत्रालय क्यों नहीं मांगा? प्रशांत किशोर ने अपनी एक जनसभा में कहा कि नीतीश कुमार ने अपने दल (JDU) के लिए कोई बड़ी मिनिस्ट्री नहीं मांगी। 



उन्होंने कहा कि, "जरा आप सोचकर बताइए कि नीतीश बाबू अपने दल के लिए कोई बढ़िया मिनिस्ट्री क्यों नहीं मांगे हैं"। पीके ने आगे कहा कि आप नीतीश को इतना नहीं जानते हैं जितना हम जानते हैं। नीतीश बाबू इसलिए बड़ा मिनिस्ट्री नहीं लिए हैं, कि कोई बड़ा मिनिस्ट्री ले लेंगे तो उनके दल में उनका कोई दूसरा कॉम्पीटीटर खड़ा हो जाएगा, इसलिए ऐसा मंत्रालय दो कि वो मिनिस्टर भी रहे, लेकिन उसके पास काम करने का कुछ अवसर भी ना आए। प्रशांत किशोर ने कहा कि नीतीश कुमार ने ऐसा करके बिहार और बिहार की जनता का नुकसान किया है। उन्होंने आगे कहा कि ऐसे आदमी को आप वोट देकर आना चाहते हैं तो आप दीजिए हम तो नहीं देने वाले।


Suggested News