नीतीश कुमार 2024 में प्रधानमंत्री बनेंगे या नहीं, पटना दौरे पर आए तेलंगाना के सीएम ने कर दिया सब कुछ साफ

नीतीश कुमार 2024 में प्रधानमंत्री बनेंगे या नहीं, पटना दौरे पर आए तेलंगाना के सीएम ने कर दिया सब कुछ साफ

PATNA : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले ही हर बार यह कहते रहे हों कि वह प्रधानमंत्री पद के दावेदार नहीं है। लेकिन उनकी पार्टी सहित महागठबंधन के दूसरी पार्टी नेताओं ने उन्हें अपना प्रधानमंत्री मान लिया है। बुधवार को जब तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव पटना पहुंचे तो हर कोई यह जानने का इच्छुक था कि वह पीएम पद के कैंडीडेट के तौर पर नीतीश कुमार का समर्थन करते हैं या नहीं। जिस पर तेलंगाना सीएम ने सबकुछ साफ कर दिया।


बचते दिखे केसीआर

केसीआर के पटना के दौरे के दौरान जब उनसे  पूछा गया कि क्या अगले लोकसभा चुनाव में नीतीश कुमार विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे तो उन्होंने इसका सीधा जवाब नहीं दिया। केसीआर ने कहा, "नीतीश कुमार देश भर में सबसे वरिष्ठ और सबसे अच्छे नेताओं में से एक हैं। हम बाद में इन चीजों को तय कर सकते हैं। जाहिर है कि केसीआर प्रधानमंत्री पद को लेकर जदयू के दावे को लेकर पूरी तरह से संतुष्ट नहीं है।

दूसरी तरफ नीतीश कुमार अपना नाम सुनकर बार-बार बीच प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही कुर्सी छोड़कर उठ खड़े हो रहे थे। बहुत देर तक अजीबोगरीब स्थिति रही, जब चंद्रशेखर राव बोलते रहे और नीतीश बगल में खड़े रहे। चंद्रशेखर राव कभी उनका हाथ तो कभी उनका कुर्ता पकड़कर खींच कर बिठाते रहे।

PM चेहरे पर आखिर क्या बोले KCR

नीतीश कुमार के चेहरे को लेकर चंद्रशेखर राव ने कहा - हम बैठ कर नेता डिसाइड कर लेंगे। जल्द बता दिया जाएगा, कौन नेता होगा। मैं बिहार जैसे पवित्र भूमि में यह बात कर रहा हूं। जेपी के आंदोलन की भूमि है। देश को संभालने की जरूरत है, नहीं तो बहुत देर हो जाएगी। झूठे वादे और झूठे तरीके से काम किया जा रहा है। शर्म करने वाली बात है।

चंद्रशेखर राव ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष कहते हैं देश में क्षेत्रीय पार्टी को खत्म करेंगे। देश के तिरंगे के साथ अपमान होता है और केंद्र सरकार चुप्पी साधे हुए है। हम लोग एकजुट होकर हर विषय पर बात करेंगे और जल्द ही नेता चुनेंगे, जो प्रधानमंत्री का चेहरा होगा।

कांग्रेस को शामिल कराने पर भी रहे चुप

नीतीश कुमार की मौजूदगी में सवाल उठाते हुए केसीआर ने सीधा जवाब देने से परहेज किया। उनसे जब पूछा गया कि क्या राष्ट्रीय मोर्चे की उनकी योजना के सफल होने पर कांग्रेस भी इसमें शामिल होगी, उन्होंने कहा, "इन मुद्दों पर समय आने पर निर्णय लिया जाएगा। हम जल्दबाजी में नहीं हैं।" उन्होंने कहा कि देश अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति में है और इसके लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया।


Find Us on Facebook

Trending News