हिरासत में लिया गया दुनिया का नंबर एक टेनिस खिलाड़ी, अब रविवार को होगी सुनवाई, हो सकती है कार्रवाई

हिरासत में लिया गया दुनिया का नंबर एक टेनिस खिलाड़ी, अब रविवार को होगी सुनवाई, हो सकती है कार्रवाई

DESK :  टेनिस के दुनिया के दिग्गज खिलाड़ियों में शुमार और पूर्व नंबर एक रैंकिंग वाले सर्बिया के नोवाक जांकोविच को हिरासत में ले लिया गया है। पिछले कुछ दिनों में यह दूसरी बार है स्टार टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) को ऑस्ट्रेलिया में हिरासत में लिया गया है।  जोकोविच को हिरासत में लिए जाने की पुष्टि उनके वकील ने भी की है। 

जोकोविच को ऑस्टेलिया की एक कोर्ट में सुनवाई से पहले हिरासत में लिया गया है. कोर्ट का आदेश यह तय करेगा कि जोकोविच ऑस्ट्रेलिया में बिना कोरोना वैक्सीनेशन के रह सकते हैं, या नहींय़ इससे पहले ऑस्ट्रेलिया सरकार ने वैक्सीनेशन नहीं होने पर उन्हें लोगों के लिए खतरा बताते हुए दूसरी बार उनका वीजा रद्द कर दिया था।  वहीं, जोकोविच के वकील ने सरकार के इस फैसले को 'तर्कहीन' बताते हुए कोर्ट में इसके खिलाफ अपील की है. 

10वीं बार ऑस्टेलिया ओपन जीतेंगे

जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया ओपन में सोमवार को शामिल होना है। जांकोविच के करियर में 20 ग्रेंड स्लेम खिताब हैं, जिनमें नौ बार वह सिर्फ ऑस्ट्रेलिय ओपन में जीते हैं। अगर इस बार वह यह प्रतियोगिता जीतते हैं,  तो वे ऐसा करने वाले पहले टेनिस खिलाड़ी बन जाएंगे. लेकिन उनकी अपील पर रविवार को होनी वाली सुनवाई काफी अहम है, इससे साबित होगा कि वे ऑस्टेलिया में रुक पाएंगे या नहीं.

तीन साल तक लग सकता है बैन

अगर रविवार को होनेवाले सुनवाई में जांकोविच को हार मिलती है, तो टेनिस के नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच का वीजा रद्द किया जा सकता है और उन्हें तीन साल के लिए निर्वासित किया जा सकता है। जो न सिर्फ खेल के नजरिए से बल्कि एक खिलाड़ी के रूप में भी जांकोविच के लिए बड़ा नुकसान होगा। जांकोविच दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करनेवाले एथलीट हैं. जाहिर है कि इसका असर उनके करियर और मार्केट पर पड़ेगा।

क्यों हुआ ऐसा

दरअसल, 6 जनवरी को मेलबर्न पहुंचने के तुरंत बाद जोकोविच का वीजा रद्द कर दिया गया था. ऑस्ट्रेलियाई सीमा बल के अधिकारियों ने कहा था, वे वैक्सीन के लिए छूट प्राप्त करने हेतु उचित सबूत प्रदान करने में विफल रहे थे। जांकोविच पर आरोप है कि उन्होंने अपनी ट्रेवल हिस्ट्री छिपाई और कोरोना संक्रमित होने के बाद भी प्रेस वार्ता की। यहां तक कि अब तक उन्होंने वैक्सीन भी नहीं लिया है। जबकि ऑस्ट्रेलिया में बिना वैक्सीन किसी के आने पर प्रतिबंध है।

Find Us on Facebook

Trending News