यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार को गिरफ्तार करने का आदेश, 80 लाख की धोखाधड़ी का आरोप

यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार को गिरफ्तार करने का आदेश, 80 लाख की धोखाधड़ी का आरोप

PATNA :  पटना सेंट्रेल रेंज के डीआइजी राजेश कुमार ने युवा कांग्रेस के नेता ललन कुमार को अविलंब गिरफ्तार करने का आदेश जारी किया है। अगर ललन कुमार फरार पाये जाते हैं तो उनके घर की कुर्की जब्ती की जाए। ललन कुमार को मदद करने के आरोप में कोतवाली थाना के दारोगा विक्रमादित्य झा और मुंशी मनोज कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है। डीआइजी ने कहा है कि ललन कुमार ने गांधी मैदान थाना में जो FIR दर्ज कराया था वह गलत है।

ललन पर 80 लाख का गहना लेने का आरोप

पटना के नवरत्न ज्वेलर्स एंड ब्रदर्स के मालिक धीरज कुमार ने आरोप लगाया था कि युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने 7 मार्च 2018 को 80 लाख रुपये का गहना लिया था। इसके एवज में उन्होंने एसबीआइ, बोरिंग रोड शाखा का चेक दिया था जो कि बाउंस हो गया। चेक बाउंस होने के बाद ललन कुमार को लीगल नोटिस भेजा गया था।  धीरज कुमार ने जून 2018 में ललन कुमार के खिलाफ एस के पुरी थाना में चेक बाउंस होने और धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया था।

ललन ने चेक बुक गुम होने का केस दर्ज कराया था

जब ललन पर धोखाधड़ी का केस हुआ तो उन्होंने गांधी मैदान थाना में चेक बुक चोरी होने का मामला दर्ज करा दिया। बाद में ललन ने कोतवाली थाना में उसी चेक बुक के गुम होने की स्टेशन डायरी 18 फरवरी 2015 की तारीख में करा दी। नवरत्न ज्वेलर्स के मालिक धीरज कुमार का कहना है कि ललन ने अपने आदमी से उन पर एससी-एसटी के तहत केस करा दिया जिससे उनकी जमानत रद्द हो गयी।

 

बैक डेट में स्टेशन डायरी

जब कोतवाली थाना में बैक डेट में स्टेशन डायरी करने का खुलासा हुआ तो धीरज कुमार ने ललन कुमार, दारोगा विक्रमादित्य झा और मुंशी पर केस किया था। पहले पुलिस इनके खिलाफ सुपरविजन का बहाना बना कर कार्रवाई नहीं कर रही थी। जब मामले ने तूल पकड़ा तो इसकी जांच करायी गयी। जांच के बाद अब इस मामले में दारोगा और मुंशी को सस्पेंड कर दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News