हत्या के बाद लाश को ऑटो में लादकर ले जा रहे थे ठिकाने लगाने, पुलिस ने रास्ते में ही धर लिया

हत्या के बाद लाश को ऑटो में लादकर ले जा रहे थे ठिकाने लगाने, पुलिस ने रास्ते में ही धर लिया

LAKKHISARAI : घर में काम करने वाले नौकर की हत्या के बाद उसकी लाश को बोरे में बंदकर जलाने जा रहे मालिक सहित एक ऑटो चालक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने ऑटो से बोरे में बंद लाश को बरामद किया। मृतक की पहचान पीरीबाजार मुसहरी निवासी स्वर्गीय राजेंद्र मांझी के दामाद अजय मांझी के रूप में हुई है। राजपुर निवासी चंद्रिका तुरी के पुत्र धर्मेंद्र तुरी और तित्तु तुरी के यहां फिरंगी काम किया करता था। इसके साथ-साथ पुलिस ने ऑटो चालक बरियारपुर निवासी दासो मंडल के पुत्र मंटू मंडल को हिरासत में लिया है। लाश के साथ पकड़ाए तीनों लोगों से पूछताछ की जा रही है। दूसरी ओर मामले में मृतक की सास ने धर्मेंद्र व तित्तु तुरी पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस गश्ती के दौरान पीरी बाजार-कजरा मुख्य पथ पर मां काली पेट्रोल पंप खैरा के नजदीक संदिग्ध अवस्था में ऑटो (बीआर09-पीए1742) से पुलिस ने लाश को बरामद किया। थानाध्यक्ष ब्रजेश कुमार दुबे ने इसकी पुष्टि की है।

काम के बहाने घर से बुलाकर ले गए थे, मारपीट कर की हत्या:

मृतक की सास अनरवा देवी बताया कि बेटी नूतन कुमारी का विवाह हवेली खड़गपुर निवासी अजय मांझी उर्फ फिरंगी से साथ हुई थी। उसे चार संतान है। मेरी बेटी मजदूरी करने के लिए एक माह पहले पंजाब गई है। शनिवार को मेरे दामाद को घर से बुलाकर धर्मेन्द्र तुरी एवं तित्तू तुरी काम के बहाने बुलाकर ले गए थे। । सुबह थाने से ऑटो से लाश मिलने की खबर आई। मेरे दामाद की साथ सभी लोगों ने मारपीट कर हत्या कर दी है। सभी दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। मौके से ड्राइवर समेत दो अन्य लोगों को पुलिस हिरासत में लेकर थाना लाई। सुबह लाश की पहचान अजय मांझी उर्फ फिरंगी के रूप में हुई।

ट्रेन आते देख पुल से कूद गया था फिरंगी, रात में हुई मौत : मालिक

हिरासत में लिए गए दोनों आरोपी भाई ने बताया कि अजय मांझी उर्फ फिरंगी मेरे यहां मजदूरी करता था। शनिवार की शाम में राजपुर रेलवे पुल पार करने के दौरान सामने से ट्रेन आते देख पुल से नीचे कूद गया। ग्रामीणों के द्वारा इसकी सूचना मिलने पर अजय मांझी उर्फ फिरंगी को स्थानीय चिकित्सक से इलाज करा कर अपने घर लेकर चला गया था। घर ले जाते वक्त उसकी तबियत ठीक थी। लेकिन अचानक देर रात उसकी मौत हो गई। इसके बाद हमलोग डर गए और पुलिस के डर से लाश को ठिकाने लगाने जा रहा थे तभी रास्ते में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

पीरी बाजार थानाध्यक्ष प्रजेश कुमार दुबे ने बताया कि मृतक की सास के आवेदन के आलोक में हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लखीसराय भेज दिया गया है।


Find Us on Facebook

Trending News