ALERT: सूबे के 38 जिलों में रहेगा यास तूफान का असर, सात दिनों तक रह सकता है इसका प्रभाव

ALERT: सूबे के 38 जिलों में रहेगा यास तूफान का असर, सात दिनों तक रह सकता है इसका प्रभाव

पटना: बंगाल की खाड़ी में सक्रिय यास तूफान का असर बिहार के 38 जिलों में होगा। सूबे के 22 जिलों में मध्य बारिश और 16 जिलों में आंधी-तूफान के साथ तेज हवाएं चलने व वज्रपात के आसार हैं। सूबे में 26 मई से अगले सात दिनों तक इसका प्रभाव देखा जाएगा। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में सक्रिय तूफान ओडिशा से लगभग 450 किमी दूर है, 26 मई की शाम इसके ओडिशा और पश्चिम बंगाल पहुंचने की संभावना है। 

इसके बाद यह झारखंड होते हुए बिहार में प्रवेश करेगा। इसके असर से सूबे के सभी हिस्सों में बारिश हो सकती है। तापमान भी पांच से सात डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, फिलहाल 25 मई तक बिहार के दक्षिणी हिस्से में मौसम शुष्क रहेगा। जबकि, पूर्वी हिस्से में तेज हवा के साथ हल्की बारिश के आसार बने हुए हैं।

30 मई तक विशेष अलर्ट

यास के कारण 26 से 30 मई के बीच बिहार के 22 जिलों में मध्य बारिश और 16 जिलों में आंधी-तूफान के साथ वज्रपात के आसार हैं। 28 मई के बाद बिहार के दक्षिणी हिस्से में स्थित पटना, गया, नालंदा, बेगूसराय नवादा में तेज हवा के साथ मध्यम बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग के अुनसार, यास के साथ ही बिहार के तटवर्ती क्षेत्र पूर्व मध्य उत्तर प्रदेश और झारखंड में चक्रवाती हवा के साथ ट्रफ का सिस्टम सक्रिय हो रहा है। इससे निम्न दबाव का क्षेत्र बना रहेगा। 

पंजाब से बिहार के तटवर्ती क्षेत्र से होते हुए मध्य प्रदेश तक जाने वाली ट्रफ रेखा से पूर्वी पश्चिमी चंपारण, पूर्णिया, सीवान, छपरा में मध्यम दर्जे की बारिश के आसार बने हुए हैं। हालांकि मौसम विभाग का कहना है कि ऐसी स्थिति में बिहार में 24 घंटे तक मौसम शुष्क बना रहेगा। हल्की बदली के साथ धूप होगी, जिससे दिन में उमस भरी गर्मी का एहसास होगा। हालांकि शाम को 7 से 11 किमी उत्तर पश्चिम की तरफ से बहने वाली हवा की वजह से काफी राहत होगी, लेकिन रात में आद्रता अधिक होने से सुस्त हवा की रफ्तार से गर्मी बढ़ेगी। शुष्क मौसम की वजह से राज्य के 20 जिलों में 3 से 7 डिग्री तापमान में वृद्धि हो सकती है। 

Find Us on Facebook

Trending News