अद्भूत संयोग! एक साथ जन्म लिया, एक साथ दुनिया को कहा अलविदा

अद्भूत संयोग! एक साथ जन्म लिया, एक साथ दुनिया को कहा अलविदा

MERUT : कोरोना महामारी में कई ऐसी कहानी सामने आई है। जो कि दिल को झकझोरने का काम करती है। ऐसा ही एक मामला यूपी के मेरठ से सामने आया है, जहां पेशे से शिक्षक के दो जवान बेटों ने सोमवार को कोरोना के कारण दम तोड़ दिया। बताया गया कि दोनों जुड़वां थे। जीवन का हर काम उन्होंने साथ में किया और विडंबना देखिए अपने अंतिम सफर पर दोनों साथ रहे। 13-14 मई की रात उनकी मौत हो गई। दोनों की मौत में सिर्फ एक घंटे का अंतराल था

मामला मेरठ के सेंटमेरीज के पास रहने वाले शिक्षक दंपती ग्रेगरी रेमंड राफेल और सोजा ग्रेगरी से जुड़ा है। सेंट थॉमस स्कूल में शिक्षक के रूप में काम करनेवाले दंपती को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दोहरा आघात लगा। जब उनके सामने उनके जुड़वां बेटों जोफ्रेड वर्गीज ग्रेगरी और राल्फ्रेडो जॉर्ज ने महज एक घंटे के अंतराल में दुनिया को अलविदा कह दिया। इंजीनियर भाइयों ने संक्रमण के बाद भी करीब 22 घंटा तक संघर्ष किया, लेकिन इनका संघर्ष अधिक नहीं चल सका। दोनों भाई साथ ही जन्मे, पले और बढ़े। एक साथ ही इंजीनियर बने और एक साथ अंतिम सांस ली।

23 अप्रैल को मनाया जन्मदिन

दोनों भाइयों ने बीते 23 अप्रैल को अपना जन्मदिन मनाया था। उनके पिता बताते हैं कि उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि यह आखिरी जन्मदिन होगा। दोनों साथ में स्कूल में पढ़ाई की, एक साथ इंजिनियरिंग की पढ़ाई की। जब भी घर आते तो साथ में आते। यहां तक कि बीमारी के बाद भी दोनों साथ में हैदराबाद से मेरठ पहुंचे। बीमारी के बाद दोनों को एक साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

भाई का साथ छूटने का एहसास

13 मई को पहले जाफ्रेड ने अंतिम सांस ली। इसके एक घंटे बाद ही राल्फ्रेडो ने भी दम तोड़ दिया। इस दौरान भाई को खोने का एहसास था कि जब राल्फ्रेड ने मां से भाई की बारे में पूछा तो उसे दिल्ली शिफ्ट करने की बात कही गई। लेकिन राल्फ्रेडो ने मां को कहा कि वह झूठ बोल रही है। इसके कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई


Find Us on Facebook

Trending News