अमित शाह ने किशनगंज के बूढ़ी काली मंदिर में की पूजा अर्चना, समझिये मंदिर जाकर कैसे साधेंगे मतदाताओं को

अमित शाह ने किशनगंज के बूढ़ी काली मंदिर में की पूजा अर्चना, समझिये मंदिर जाकर कैसे साधेंगे मतदाताओं को

पटना. गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को किशनगंज के प्रसिद्ध बूढ़ी काली मंदिर में पूजा अर्चना की. उन्होंने कहा कि माँ के दर्शन कर देश व बिहारवासियों की समृद्धि की कामना की है. अमित शाह बिहार प्रवास के दूसरे दिन किशनगंज के सुभाषपल्ली चौक स्थित बूढ़ी काली माता मंदिर में पहुंचे. उन्होंने वहां विधिवत पूजा-अर्चना की. किशनगंज के इलाके में इस मंदिर की काफी महत्ता है. अमित शाह के यहां पूजा करने को इस लिहाज से भी बेहद खास माना जा रहा है कि वे इस इलाके में भाजपा के परम्परागत वोट बैंक को एक परोक्ष संदेश देना चाहते थे. 

चुकी यह इलाका अल्पसंख्यक बहुल है. यहां वोट बैंक के लिहाज से जदयू और राजद की मजबूत उपस्थिति रही है. ऐसे में अमित शाह का इस इलाके में प्रसिद्ध मंदिर में पूजा करने से हिंदुओं मतदाताओं को बड़ा संदेश जाएगा. अब तक कि यहां की राजनीति जहाँ अल्पसंख्यक आधारित थी, वहीं अब शाह के इस दौरे ने बिना कुछ बोले ही बड़ा संदेश देने के काम किया है. सीमांचल के इलाके में अमित शाह की इस सक्रियता से विपक्षी दलों की चिंता बढ़ सकती है. 

दरअसल, अमित शाह दो दिनों के बिहार दौरे के पहले दिन पूर्णिया में थे. वहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित किया था. उन्होंने कहा था कि बिहार भाजपा वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत हासिल करेगी. लालू यादव के राजद सहित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू को बिहार की जनता सबक सिखाएगी. बिहार में नीतीश-लालू की सरकार बनने से राज्य में जंगलराज की स्थिति बन गई है. सीमांचल के इलाके में लोग डरे हुए हैं कि लालू के साथ नीतीश के सरकार बनाने से राज्य में फिर से अपराध चरम पर पहुंच गया है. लेकिन केंद्र में मोदी की सरकार है इसलिए बिहार और सीमांचल के लोगों को डरने की जरूरत नहीं है. 

वहीं अमित शाह ने वर्ष 2025 के विधानसभा चुनाव के लिए भी अभी से ऐलान किया कि भाजपा जनता का भरोसा जीतेगी और नीतीश-लालू को सत्ता से उखाड़ फेंकेगी. उन्होंने अपने करीब 30 मिनट के संबोधन में 25 मिनट तक नीतीश-लालू को निशाने पर लिया. उन्होंने नीतीश कुमार को सत्ता के लिए बार बार सहयोगियों को धोखा देने वाला बताया. साथ ही भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि हम बिहार में बड़ी जीत हासिल करने के लिए आगे बढ़ेंगे. 2024 और 2025 में बिहार में कमल खिलेगा और नीतीश और लालू का बोरिया-बिस्तर बंध जाएगा. 

अब किशनगंज के मंदिर में पूजा कर उन्होंने एक बार फिर से इस इलाके में भाजपा की जड़ों को मजबूत करने के लिए महत्वपूर्ण संदेश दिया है. इस दौरान अमित शाह के साथ बिहार प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल और नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा सहित कई अन्य नेता मौजूद रहे. 


Find Us on Facebook

Trending News