'बलात्कार' पर कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल, अब चारों ओर हो रही थू थू

'बलात्कार' पर कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल, अब चारों ओर हो रही थू थू

नई दिल्ली. कर्नाटक विधानसभा में एक वरिष्ठ कांग्रेसी विधायक ने ‘बलात्कार’ के मसले पर ऐसी बात कर दी कि चारो ओर से उनकी थू थू हो रही है. कांग्रेस विधायक आर रमेश ने सदन में शर्मनाक टिप्पणी करते हुए कहा, जब बलात्कार होना ही है, तो लेटो और मज़े लो.

उनकी इस टिप्पणी के खिलाफ अब देश भर में महिला संगठनों, बुद्धिजीवियों और राजनीतिक दलों की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आ रही है. रमेश की टिप्पणी को महिलाओं की गरिमा के खिलाफ बताया जा रहा है. कर्नाटक की महिला विधायकों ने कहा है रमेश की निंदा करते हुए कहा, ऐसे बयान को लेकर सदन को सभी महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए, हर मां, हर बहन और देश की बेटी से.

दरअसल गुरुवार को कर्नाटक विधानसभा में बारिश और बाढ़ से हुए नुकसान पर चर्चा के दौरान कई विधायक बोलना चाहते थे. हालाँकि स्पीकर विश्वेश्वर हेगड़े ने कम समय का हवाला देते सदन में चर्चा शाम 6 बजे तक खत्म कराने की बात कही. वहीं विधायक समय बढ़ाने की मांग कर रहे थे. इस पर हेगड़े ने कहा, एक ओर सदन में काम नहीं चल रहा है, ऐसे में मुझे लगता है कि मुझे स्थिति को नियंत्रित करना छोड़ देना चाहिए और कार्यवाही को व्यवस्थित तरीके से करना चाहिए, मुझे सभी को अपनी बात जारी रखने के लिए कहना चाहिए. 


सदन में असमंजस की स्थिति पर हेगड़े बोल ही रहे थे कि अचानक पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और कांग्रेस विधायक आर रमेश ने बीच में टोकते हुए कहा, देखिए एक कहावत है- जब रेप होना ही है तो लेटिए और मजे लीजिए. आपकी इस वक्त वही स्थिति है.'  अब इस बयान को लेकर रमेश कुमार की हर ओर से निंदा हो रही है. बलात्कार जैसे जघन्य अपराध को मजाक में बोलने पर कई महिला विधायकों ने उनकी आलोचना की है. 

रमेश कुमार एक बार पूर्व में भी इसी प्रकार के बयान पर आलोचना के पात्र बने थे. 2019 में कर्नाटक विधानसभा का स्पीकर रहते हुए रमेश ने अपनी हालत की तुलना रेप पीड़िता से कर बड़ा विवाद खड़ा किया था. उनके इस बयान के बाद न सिर्फ महिला सदस्यों बल्कि उनकी पार्टी के विधायकों ने भी सदन में प्रदर्शन किया था. 

Find Us on Facebook

Trending News