बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां
  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां

  • जमुई के टीआर नारायण हेरिटेज प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया पहला वार्षिकोत्सव, बच्चों ने दी एक से बढ़कर एक प्रस्तुति
  • जमुई के टीआर नारायण हेरिटेज प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया पहला वार्षिकोत्सव, बच्चों ने दी एक

  • परिवार से फ्लैट खाली कराने में गुंडों की सहायता लेना कंकड़बाग थाने को पड़ा भारी, दोषी पुलिसकर्मी अपने पॉकेट से देंगे पीड़ित को मुआवजा, हाईकोर्ट का निर्देश
  • परिवार से फ्लैट खाली कराने में गुंडों की सहायता लेना कंकड़बाग थाने को पड़ा भारी, दोषी पुलिसकर्मी अपने

  • सीएम नीतीश ने जल संसाधन विभाग के 1,094 योजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास, 3,420 करोड़ रुपये की आएगी लागत
  • सीएम नीतीश ने जल संसाधन विभाग के 1,094 योजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास, 3,420 करोड़ रुपये की

  • प्रधानमंत्री एक साथ देश भर में अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत 554 स्टेशनों के पुनर्विकास का करेंगे शिलान्यास, ECR के 23 स्टेशन भी शामिल
  • प्रधानमंत्री एक साथ देश भर में अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत 554 स्टेशनों के पुनर्विकास का करेंगे

  • समता के प्रवर्तक संत रविदास की 647 वीं जयंती पर पटना महावीर मन्दिर में कार्यक्रम
  • समता के प्रवर्तक संत रविदास की 647 वीं जयंती पर पटना महावीर मन्दिर में कार्यक्रम

  • सीएम नीतीश ने सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट और अन्य सौदर्यीकरण कार्य का किया लोकार्पण, 115 करोड़ रूपये आई है लागत
  • सीएम नीतीश ने सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट और अन्य सौदर्यीकरण कार्य का किया लोकार्पण, 115 करोड़

  • रजनीकांत की चोरी हुई स्कॉर्पियो को पुलिस ने 48 घंटे में खोजा, चार शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार
  • रजनीकांत की चोरी हुई स्कॉर्पियो को पुलिस ने 48 घंटे में खोजा, चार शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार

  • स्पीड पोस्ट के जरिए सरकारी स्कूल शिक्षक ने डॉक्टर से मांगी पांच लाख की रंगदारी, पूर्व में रेलवे को उड़ाने की दे चुका है धमकी
  • स्पीड पोस्ट के जरिए सरकारी स्कूल शिक्षक ने डॉक्टर से मांगी पांच लाख की रंगदारी, पूर्व में रेलवे

  • सीतामढ़ी में जिला जदयू की बैठक, एनडीए को बिहार के सभी 40 सीटों पर जीत दिलाने का लिए   " सेवन मैन बूथ कमिटी "का निर्माण का संकल्प
  • सीतामढ़ी में जिला जदयू की बैठक, एनडीए को बिहार के सभी 40 सीटों पर जीत दिलाने का लिए

बीजेपी को पैरों तले कुचल देने के ऐलान के बाद बाहुबली आनंद मोहन ने की घोषणा, नवंबर में पटना में होगी रैली, जुटेंगे 10 लाख लोग

बीजेपी को पैरों तले कुचल देने के ऐलान के बाद बाहुबली आनंद मोहन ने की घोषणा, नवंबर में पटना में होगी रैली,  जुटेंगे 10 लाख लोग

पटना. बिहार के बाहुबली नेता और पूर्व सांसद आनंद मोहन जेल से छूटने के बाद फिर से अपनी सियासी जमीन मजबूत करने में नये सिरे से जुट गए हैं. उन्होंने नवंबर महीने में राजधानी पटना में एक बड़ी रैली का आयोजन करने की घोषणा की है. आनंद मोहन ने दावा किया है कि इस रैली में राज्यभर से 10 लाख लोग जुटेंगे. इसके लिए वह अभी से जगह- जगह जाकर लोगों को आमंत्रित कर रहे हैं. दलित आईएएस अधिकारी जी. कृष्णैया हत्याकांड में सजा काटकर हाल ही में वे जेल से रिहा हुए हैं.  

शिवहर से सांसद रहे आनंद मोहन ने रोहतास जिले के बिक्रमगंज में मीडिया से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने बताया कि वे 10 नवंबर में पटना में एक बड़ी जनसभा करने जा रहे हैं. इसके लिए वह अभी से लोगों को निमंत्रण दे रहे हैं. आनंद मोहन ने कहा कि इस रैली में 10 लाख लोग शामिल होंगे. रोहतास जिले में पूर्व सांसद ने महाराणा प्रताप की मूर्ति का अनावरण किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि युवाओं को महाराणा के रास्ते पर चलना चाहिए.

आनंद मोहन की रैली के सियासी मायने : जेल से छूटने के बाद आनंद मोहन की जदयू से नजदीकी बढ़ी है. उनके बेटे चेतन आनंद अभी राजद से विधायक हैं. हत्याकांड में जेल से पिछले महीने ही रिहा होने के चलते आनंद मोहन फिलहाल चुनाव नहीं लड़ सकते हैं, मगर वे अपनी पत्नी या किसी अन्य करीबी को 2024 में चुनाव लड़वाने की तैयारी करते जान पड़ते हैं. चर्चा है कि कि शिवहर लोकसभा सीट से वह अपने किसी करीबी को महागठबंधन से उम्मीदवार बनवा सकते हैं.


जी कृष्णैया हत्याकांड में जेल जाने के बाद आनंद मोहन सक्रिय राजनीति से अलग- थलग पड़ गए थे. हालांकि, कोसी क्षेत्र में उनका दबदबा आज भी कायम है. वह राजपूत समाज का प्रमुख चेहरा हैं. ऐसे में नीतीश कुमार और तेजस्वी प्रसाद यादव उनकी इस छवि को भुनाकर राजपूत समाज के वोटों को अपनी ओर खींच सकते हैं. पटना में प्रस्तावित रैली पर फोकस राजपूतों को एकजुट करने पर रहेगा. राजनीतिक जानकारों का मानना है कि नीतीश सरकार ने रणनीति के तहत जेल नियमावली में बदलाव कर आनंद मोहन की रिहाई का रास्ता साफ किया है ताकि आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावों में राजपूत वोटबैंक पर पकड़ मजबूत की जा सके.

पिछले सप्ताह ही आनंद मोहन ने एक रैली में घोषणा की थी कि वे कमल को हाथी की तरह कुचल देंगे. सहरसा जिले के महिषी में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने खुद को हाथी बताया और कहा कि वह बीजेपी को पैरों तले कुचल देंगे. अब 10 नवंबर को पटना में रैली की घोषणा कर उन्होंने अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव के पहले अपनी ताकत दिखाने की तैयारी कर ली है.