बिहार में ‘प्यार’ पर पाबंदीः प्रेम प्रसंग का खतरनाक अंजाम, युवक को घर बुलाकर बेरहमी से पीटा, सिर धड़ से अलग कर फेंका शव

बिहार में ‘प्यार’ पर पाबंदीः प्रेम प्रसंग का खतरनाक अंजाम, युवक को घर बुलाकर बेरहमी से पीटा, सिर धड़ से अलग कर फेंका शव

GOPALGANJ: बिहार में प्यार करना कानूनन तो नहीं, मगर आम जनता की नजर में संगीन जुर्म बन चुका है। इतना संगीन, कि इसके लिए केवल मौत की सजा ही स्वयं लोगों द्वारा मुकर्रर की गई है। बात करेंगे बीते दिनों के कुछ मामलों की तो मुजफ्फरपुर से दो गंभीर मामले देखने को मिले हैं, जहां प्रेमी की प्रेमिका के परिजनों द्वारा बेरहमी से पिटाई के बाद हत्या कर दी जाती है। अब ऐसा ही मामला गोपालगंज से सामने आया है।

गोपालगंज जिले के विशंभर पुर थाना के काला मटिहनिया गांव में एक युवक की निर्मम तरीके से हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। युवक की पहचान विशम्भरपुर के रूपछाप गांव के प्रेम कुमार के रूप में की गई है। मिली जानकारी के मुताबिक, युवक लगभग 5 दिनों पहले अपनी प्रेमिका से मिलने उसके गांव सिपाया खास ताड़ पर टोला पहुंचा था, मगर वह वापस नहीं लौटा। पांच दिनों के बाद गंडक नदी से उसका शव बरामद किया गया है। शव को देखकर लोगों के रौंगटे खड़े हो गए, क्योंकि शव का सिर गायब था और शरीर पर कई जगह चोटों के निशान थे। 


मृतक के भाई बुलेट कुमार यादव ने प्रेमिका के परिजनों पर हत्या का आरोप लगाते हुए बताया है कि प्रेम को प्रेमिका के घरवालों ने पहले फोन कर बुलाया और घर बुलाकर उसकी बेरहमी से पिटाई की गई। पिटाई के बाद उसके भाई के सिर को काटकर आधे हिस्से को गंडक नदी में फेंक दिया गया, जबकि सिर अब तक बरामद नहीं हो सका है। रविवार को पुलिस ने काफी खोजबीन के बाद मृतक के शव को गंडक नदी से बरामद किया है। इस मामले पर सदर एसडीपीओ नरेश पासवान ने बताया कि मृतक के परिजनों के बयान पर कई लोगों के खिलाफ विशम्भरपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मृतक के सिर कटे शव को बरामद किया गया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

Find Us on Facebook

Trending News