नामी कॉलेज के प्रिंसिपल साहब ने अपने सहकर्मी का किया लगातार 3 साल तक यौन शोषण, महिला हुई गर्भवती तो मच गया बवाल...

नामी कॉलेज के प्रिंसिपल साहब ने अपने सहकर्मी का किया लगातार 3 साल तक यौन शोषण, महिला हुई गर्भवती तो मच गया बवाल...

Begusarai : बेगूसराय में यौन शोषण का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां आयुर्वेदिक कॉलेज में कार्यरत एक चतुर्थवर्गीय महिला कर्मचारी के द्वारा उसी कॉलेज के प्रिंसिपल पर सरकारी नौकरी करवा देने का प्रलोभन देकर यौन शोषण का आरोप लगा है. मामला नगर थाना क्षेत्र के राजकीय अयोध्या शिवकुमारी आयुर्वेदिक महाविद्यालय सह चिकित्सालय का है जहां आउट सोर्सिंगकर्मी के रूप में अटेंडेंट के पद पर कार्यरत महिला कर्मचारी ने स्पष्ट रूप से आरोप लगाते हुए कहा कि उसने 1 फरवरी 2017 को यहां अपनी सेवा देना शुरू किया. 


क्या है पूरा मामला 

यौन शोषण की शिकार महिला ने बताया कि जबसे उसे काम करना शुरू किया उसके प्राचार्य डॉ उमा शंकर चतुर्वेदी ने महिला को पहले घर पर खाना बनाने के नाम पर बुलाया फिर उसे महिला को शारीरिक संबध बनाने को कहा. महिला के विरोध पर प्रिंसिपल ने उसे नौकरी से हटवा देनें की धमकी दी. कुछ दिन तक महिला इसी वजह से प्रताड़ित होती रही. बाद में प्रिंसिपल ने महिला को खाना बनाने के दौरान चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया. चाय पीते ही महिला  बेहोश हो गयी. जब उसे होश आया तबतक उसकी अस्मत लूट चुकी थी. 

महिला ने आवेदन में क्या कहा

पीड़िता ने पुलिस को दिए आवेदन में कहा कि वह कॉलेज में आउटसोर्सिंग कर्मी के रूप में अटेंडेंट के पद पर 2017 से कार्यरत है. आरोप लगाया कि कॉलेज के प्राचार्य पहले बाघा में किराए के मकान में रहते थे. अप्रैल 2017 में प्राचार्य ने उसे अपने आवास पर बुलाकर कहा कि वह अकेले रहते हैं तुम खाना बना दिया करो. पीड़िता ने कहा कि जब इसके लिए वह तैयार नहीं हुई तो उसे नौकरी से निकाल देने की धमकी दी गई. इसके बाद वह उनके घर जाकर सुबह-शाम खाना बनाने लगी.

 पीड़िता ने आरोप लगाया कि दो सितंबर 2017 को प्रचार्य ने अपने साथ बैठाकर चाय पिलायी. इसके बाद वह बेहोश हो गई. बाद में पता चला कि उसके साथ प्राचार्य ने गलत काम किया. इसका जब विरोध किया तो धमकी के साथ-साथ तरह-तरह के प्रलोभन देने लगे. कहा तुम्हे स्थायी सरकारी नौकरी दिलवा देंगे. पीड़िता ने कहा कि प्राचार्य ने कहा कि उसकी पत्नी नहीं है. शादी भी कर लेंगे. इसके बाद प्रलोभन देकर कई बार यौन शोषण किया.

पीड़िता ने आरोप लगाया कि इसके बाद प्राचार्य लगातार उनके साथ यौन शोषण करते रहे. पीड़िता का कहना है कि इस दौरान वह गर्भवती हो गई. बताया कि वह विधवा है. जब उसने शादी के लिए कहा तो उसे गर्भपात करवाने का दबाव बनाने लगे. ऐसा नहीं करने पर नौकरी से निकालने की धमकी देने लगे. बाद में उन्होंने नौकरी से निकाल दी और कहा जो करना है करो. महिला थाना के मुताबिक पीड़िता ने आयुर्वेदिक कॉलेज के प्राचार्य के खिलाफ लिखित शिकायत कर यौन शोषण का आरोप लगाया है.शिकायत के आधार पर मामले की जांच की जाएगी. 

बेगूसराय से कृष्णा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News