....और जाते-जाते राह दिखा गए रघुवंश बाबू, बीजेपी बोली-राजद-कांग्रेस को सबक लेने की जरूरत

....और जाते-जाते राह दिखा गए रघुवंश बाबू, बीजेपी बोली-राजद-कांग्रेस को सबक लेने की जरूरत

PATNA: पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह की दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में रविवार को निधन हो गया था। निधन के कुछ दिनों पहले ही उन्‍होंने राष्ट्रीय जनता दल से 32 साल पुराना नाता तोड़ लिया था। उन्‍होंने आइसीयू से ही आरजेडी से इस्‍तीफा देने का पत्र जारी कर बिहार चुनाव के ठीक पहले सियासी हड़कंप मचा दिया था। उनका पार्थिव शरीर रविवार की देर शाम पटना लाया गया, जहां से वैशाली स्थित पैतृक आवास ले जाया गया.आज सोमवार को उनका अंतिम संस्‍कार पैतृक गांव में राजकीय सम्‍मान के साथ किया गया.

निधन से तीन पहले लिखे गए पत्र में रघुवंश बाबू ने लालू परिवार की पोल खोल कर रख दी।यूं कहें कि राजद से कद्दावर समाजवादी नेता ने स्पष्ट कर दिया कि लालू परिवार सिर्फ अपने लिए राजनीत करती है।रघुवंश बाबू के पत्र पर अब बिहार में राजनीति तेज हो गई है।बिहार बीजेपी ने कहा है कि जाते-जाते राह दिखा गए रघुवंश बाबू. 

बिहार बीजेपी के प्रवक्ता डॉ. राम सागर सिंह ने कहा कि लोकतंत्र की जननी वैशाली के पुत्र ने अंतिम समय मे चिठ्ठी के द्वारा वंशवाद पर करारा हमला किया।उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि लोकतंत्र में रानी के कोख से नही जनता के वोट से राजा पैदा होगा। उनके अंतिम समय मे दी गई सीख से राजद और कांग्रेस को सबक लेते हुए अपने राजनीतिक कार्यशैली में परिवर्तन कर श्रद्धांजलि अर्पित करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने उनके अंतिम समय चिठ्ठी को जिस प्रकार से सम्मान देते हुए उनके द्वारा बताए गए कार्यो को पूरा करने की बात कहकर श्रद्धांजलि अर्पित की। उसी प्रकार राजद और कांग्रेस भी वंशवाद का रास्ता छोड़ कर रघुवंश बाबू को सच्ची श्रधांजलि अर्पित करे.

Find Us on Facebook

Trending News