PM मोदी के कृषि कानून की वापसी पर कुछ ऐसी थी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रतिक्रिया, नहीं होगा यकीन

PM मोदी के कृषि कानून की वापसी पर कुछ ऐसी थी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रतिक्रिया, नहीं होगा यकीन

PATNA/NEW DELHI : गुरुनानक जयंती के अवसर पर आज देश के नाम अपने संबोधन में संसद से पारित तीन कृषि बिलों को वापस लेने की घोषणा कर दी। इसके साथ ही उन्होंने लगभग एक साल से धरने पर बैठे देश के किसानों से अपना आंदोलन खत्म करने और उन्हें वापस घर लौटने की अपील की। जिसको लेकर देश भर से अलग अलग प्रतिक्रिया मिल रही है। जहां विपक्ष ने इसे किसानों की जीत और मोदी सरकार के अहंकार की हार बताया है। वहीं दूसरी तरफ एनडीए की तरफ से मोदी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया गया है। 

बात अगर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की करें, तो उन्होंने प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत किया है। अपनी आंखों के इलाज के लिए दिल्ली गए मुख्यमंत्री ने कृषि कानून को वापस लेने के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह केंद्र का निर्णय है। प्रधानमंत्री जी को लगा कि किसानों के लिए जो कानून वह लेकर आए थे, उसे वह सही तरीके से उन्हें समझा नहीं पाए। इसलिए कानून वापस लेने का फैसला लिया गया। 

नीतीश कुमार ने कहा कि हर कानून के दो पहलू होते हैं, जिनमें कुछ लोग सपोर्ट करते हैं, वहीं कुछ लोग विरोध करते हैं। यहां भी ऐसा ही हुआ। प्रधानमंत्री जी कानून लेकर आए, अब उसे वापस लेने की घोषणा की, दोनों फैसले केंद्र के थे। इसलिए हम इस पर कुछ नहीं कह सकते हैं। प्रधानमंत्री ने पहली ही सारी बातें कह दी हैं। उन्होंने कहा कि सब ठीक होगा। हमारे यहां पहले भी किसानों के लिए काम होता रहा है, आगे भी होता रहेगा. 

Find Us on Facebook

Trending News