BIHAR CRIME: बेरोजगार युवाओं से नौकरी के नाम पर लिए लाखों रुपए, रकम ऐंठकर संचालक फरार, डीएम तक पहुंचा केस

BIHAR CRIME: बेरोजगार युवाओं से नौकरी के नाम पर लिए लाखों रुपए, रकम ऐंठकर संचालक फरार, डीएम तक पहुंचा केस

KHAGARIA: सशक्त राष्ट्र प्रहरी आत्मनिर्भर भारत के नाम पर बेरोजगार युवा युवतियों को नौकरी व योजना का लाभ दिलाने की बात कह लाखों की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। बिहार सहित कई राज्यों में हजारों की संख्या में युवा बेरोजगार हैं, जो नौकरी के लिए दर-दर भटकते रहते हैं। ऐसे में कई बार वह फर्जीवाड़े गिरोह के चक्कर में फंस जाते हैं, जिससे उन्हें नौकरी तो नहीं मिलती, मगर उनकी गाढ़ी कमाई जरूर डूब जाती है।

ठगी का यह मामला खगड़िया जिले से सामने आया है। जिले के मोरकाही थाना क्षेत्र के कई युवा ठगी का शिकार हो गए हैं। आरोप लगा है मेहसौड़ी के अमित कुमार और संजय कश्यप पर, जिन्होनें एक कार्यालय खोला और नौकरी दिलाने के नाम पर 500 से अधिक लोगों को ठगा। करीब 500 लोगों से इन दोनों ने 1 हजार से 10 हजार रुपये तक लिए हैं। इसके बाद जब नौकरी दिलाने की बारी आई तो यह दोनों ठग कार्यालय पर ताला मारकर फरार हो गए। जिसके बाद से सभी युवा हैरान-परेशान हैं और थाने के चक्कर काट रहे हैं। सभी ने मिलकर संबंधित थाने में आवेदन भी दिया, मगर पुलिसकर्मियों ने आवेदन लेने से इनकार कर दिया।


पीड़ित लोगों का आवेदन नहीं लेने के बाद युवा डीएम कार्यालय पहुंचे और रोजगार या न्याय देने की गुहार लगाने लगे। उन्होनें बताया कि थाना पुलिस के डर से मामला 6 महीनों से दबा रहा। इस संबंध में जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष ने कहा कि उनकी जानकारी में ऐसी कोई सरकारी संस्था जिले में नही चलाई जा रही है। हालांकि सच्चाई तो यह है कि इस छोटे से शहर में कई ऐसे संस्था फल-फूल रही है। यह सभी संस्थाएं सरकार की तरफ से मान्यता प्राप्त नहीं होती है। ऐसे में इनपर जल्द शिकंजा भी नहीं कसा जा सकता है, क्योंकि ऐसे ठग ठगी करने के बाद दूसरे जिले में जाकर रहने लगते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News