कांग्रेस के पूर्व प्रखंड अध्यक्ष सहित दो लोगों की हत्या, बीच चौराहे पर मारी गोली

कांग्रेस के पूर्व प्रखंड अध्यक्ष सहित दो लोगों की हत्या, बीच चौराहे पर मारी गोली

KAIMUR : कैमूर जिले के करमचट थाना क्षेत्र के सबार गांव के पास पांच-छह की संख्या में रहे अपराधियों ने गोलियों की बौछार कर दो लोगों की हत्या कर दी। एक की मौत घटनास्थल पर ही हो गई तो दूसरे का इलाज के लिए सदर अस्पताल लाने के दौरान मौत हो गया। मृतकों में एक सबार गांव के कांग्रेस के पूर्व प्रखंड अध्यक्ष तिरपन सिंह तो दूसरा बहेरी गांव के शिव प्यारे दुबे हैं। शिव प्यारे दुबे पल्स पोलियो का दवा पिलाने का काम करते थे। रोहतास जिले के चेनारी से बाजार कर सबार उतरकर अपने गांव जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे तभी अपराधियों ने दोनों लोगों को गोली मार कर पैदल हुए फरार। घटनास्थल करमचट थाना के सौ मीटर के अंदर होने के बाद भी थानेदार सहित एक भी पुलिस बल समय पर नहीं पहुंचे, जिससे ग्रामीण और परिजनों में काफी आक्रोश दिखा और थानेदार को तुरंत निलंबित करने की मांग करने लगे। 

यह घटना मंगलवार की देर शाम सबार के दुर्गा चौक के पास हुई। गोली की आवाज सुनते ही लोगों के बीच भगदड़ मच गई और बदमाश घटना को अंजाम देकर फरार हो गए। परिजनों ने बताया करमचट थाना के सौ मीटर के पास 5 से 6 की संख्या में रहे अपराधियों ने तिरपन सिंह के ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां चलाना शुरू कर दिया। जब यह घटना रामप्यारे दुबे देखें तो उनको भी अपराधियों ने गोली मार दिया। जिससे वह घटनास्थल पर ही गिर गए। गोली का आवाज सुन पुलिस नहीं पहुंचा। घटनास्थल पर ग्रामीणों द्वारा ही इनको अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 

बताया गया है कि करीब पांच माह पूर्व सबार के लक्ष्मण पासवान के बेटे की हत्या मामले में तिरपन सिंह को नामजद किया गया था। वह वर्ष 2008 से 2010 तक कांग्रेस के रामपुर प्रखंड के अध्यक्ष थे। फिलहाल वह गिट्टी-बालू का कारोबार करते थे। वहीं शिव प्यारे दुबे स्वास्थ्य विभाग के पल्स पोलियो की दवा पिलाने का काम करते हैं जो रोहतास जिले के चेनारी से बाजार करके ऑटो से सवार आए थे और सवार से बस पकड़ कर उन्हें अपने गांव बहेरी जाना था।

पुलिस पर उतरा लोगों का गुस्सा

 करमचट थाना के पास अक्सर विवाद और झगड़ा होते रहता है लेकिन थानेदार का सुस्त रवैया के कारण कभी भी ध्यान नहीं दिया जाता। इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी थानेदार घटनास्थल पर नहीं पहुंचे। हम लोग कैमूर एसपी से थानेदार को तुरंत निलंबित करने की मांग करते हैं,साथ ही जो सरकार की तरफ से ऊचित्त मुआवजा मिलने का प्रावधान है वह परिजनों को मिले जिससे कि कुछ आर्थिक सहायता हो सके।

मौके पर पहुंचे एएसपी अनंत सिंह ने बताया अपराधियों द्वारा दोनों को गोली मारकर हत्या कर दिया गया है। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। इस हत्याकांड में जो भी शामिल अपराधी हैं उनकी जल्द गिरफ्तारी होगी।






Find Us on Facebook

Trending News