बिहार में अब हर जमीन का होगा यूनिक आईडी, 17 अंकों से मिलेगी जमीन की पूरी जानकारी...

बिहार में अब हर जमीन का होगा यूनिक आईडी, 17 अंकों से मिलेगी जमीन की पूरी जानकारी...

PATNA: बिहार में अब आपकी जमीन की अपनी अलग पहचान होगी। अपना यूिनक आईडी से आप अपनी जमीन का पता लगा सकते हैं।यूनिक आईडी डालते हीं जमीन की पूरी जानकारी कंप्यूटर पर सामने आ जाएगी।

यूपी में इसपैटर्न को लागू कर दिया गया है।अब बिहार की बारी है।दोनों राज्यों में सिर्फ एक डिजिट का अँतर है।यूपी में जहां 16 अँकों का यूनिक आईडी होगा वहीं बिहार में 17 अँकों का।

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग इस नए प्रयोग पर आम लोगों की राय ले रहा है।भू अभिलेख एवं परिमाप निदेशालय के निदेशक जय सिंह ने बताया कि  15 मार्च तक लोग अपनी राय दे सकते हैं। इसके लिए मोबाइल नम्बर के अलावा ई मेल आइडी जारी किए गए हैं।

आम लोगों की राय जानने के बाद इस प्रयोग को फाइनल रूप दिया जाएगा।बताया जाता है कि 17 अंकों की यूनिक आइडी में पहला6  अंक राजस्व ग्राम के लिए है। उसके बाद का तीन अंक राजस्व थाना नं0के लिए,  आखिर का पांच अंक खेसरा नंबर को प्रदर्शित करेगा। 

सरकारी जमीन 4 श्रेणी मं बंटेगी

 यूनिक आइडी में सरकारी जमीन चार श्रेणी में बंटेंगी.गैरमजरूआ आम, गैरमजरूआ खास, कैसरे हिन्द एवं खास महाल। रैयती जमीन की भी कई किस्में होंगी। विभागीय मंत्री रामनारायण मंडल ने कहा कि योजना के लागू होने पर जमीन के मामले में पारदर्शिता आएगी। भष्ट्राचार पर अंकुश लगेगा। प्लॉट की खरीद-बिक्री के समय खरीददार उस प्लॉट का इतिहास, भूगोल पता कर सकता है। जमीन पर अगर कोई विवाद है या उससे संबंधित कोई मुकदमा किसी अदालत में चल रहा है तो उसकी जानकारी भी क्रेता को मिल जाएगी।  

Find Us on Facebook

Trending News