BIHAR NEWS: प्रेरणादायक! कोरोना काल में लगातार 14 महीने से सेवाएं दे रहे रवींद्र कुमार, परिवार को बताया अपना संबल

BIHAR NEWS: प्रेरणादायक! कोरोना काल में लगातार 14 महीने से सेवाएं दे रहे रवींद्र कुमार, परिवार को बताया अपना संबल

AURANGABAD: कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बीच इन दिनों समाज मे मिसाल क़ायम करने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रफीगंज मे कार्यरत लैब टेक्निशियन रवीन्द्र कुमार सुर्खियों मे हैं। रवींद्र कुमार सही मायनों में कोरोना योद्धा हैं। खतरनाक महामारी के बीच वह लगातार 14 महीने से संदिग्ध लोगों की कोरोना जांच कर रहे हैं।

कोरोना संक्रमित मरीजों के सम्पर्क में आने से उन पर कोरोना संक्रमण का खतरा हमेशा बना रहता है। इसके बावजूद भी रवींद्र कुमार तमाम एहतियात बरतते हुए दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। विगत 14 महीनों में रवींद्र अबतक 30 हजार लोगों की कोरोना जांच कर चुके हैं। इनमें रैपिड एंटीजन किट एवं आरटीपीसीआर, दोनों तरह की जांच शामिल हैं। कोरोनाकाल में अपनी दिनचर्या और कार्य को लेकर रवींद्र कुमार ने बताया कि प्रतिदिन वह लगभग 100 लोगों की रैपिड एंटीजन जांच तथा 80 लोगों के आरटी-पीसीआर सैंपल संग्रह करते हैं। कई बार जांच के दौरान पॉजिटिव के संपर्क में घंटों खड़ा रहना पड़ता है, जिस वजह से खुद के संक्रमित होने का खतरा लगातार बना रहता है।

लैब टेक्निशियन रवीन्द्र कुमारने परिवार और ड्यूटी के बीच सांमजस्य स्थापित करने को लेकर बताया कि शुरूआत में ज़ब वह ड्यूटी पूरी कर घर जाते थे तो उनकी पत्नी और बच्चे काफी डरे हुए रहते थे। अब वक्त के साथ उनके अंदर से यह डर खत्म हो गया है। उन्होनें बताया कि उनकी पत्नी डॉ विनीता प्रिया शिक्षिका हैं। परिवारवाले मिलकर लगातार ही उनका हौसला बनाए रखतें हैं औऱ विकच परिस्थिति में मनोबल टूटने नहीं देते। बता दें कि कुछ दिन पहले ही औरंगाबाद जिले के सिविल सर्जन डॉ अकरम अली और रफीगंज प्रभारी डॉ ए के सिंह ने रवींद्र कुमार को कोरोना योद्धा सम्मान -पत्र से सम्मानित किया है। साथ ही दोनों ने इनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है। 

Find Us on Facebook

Trending News