BIHAR NEWS: फल्गु तट पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ता, कोरोना काल में मृत व्यक्तियों के लिए किया सामूहिक पिंडदान और तर्पण

BIHAR NEWS: फल्गु तट पहुंचे सामाजिक कार्यकर्ता, कोरोना काल में मृत व्यक्तियों के लिए किया सामूहिक पिंडदान और तर्पण

GAYA: बिहार के गया में अंतः सलिला फल्गु तट पर दिल्ली से आए सोशल वर्कर अशोक रंधावा ने कोरोना काल में काल के गाल में समाए लोगों की भटकती आत्मा की मुक्ति और शांति के लिए विष्णुपद स्थित देवघाट के अंत सलिला फल्गु तट पर सामूहिक पिंडदान और तर्पण किया। 

अशोक रंधावा ने बताया कि वह कोरोना काल में बहुत सारे ऐसे लोग थे जिनकी मौत के बाद अस्थियां विधिवत श्राद्ध कर्म के बाद प्रवाहित नहीं की गई थी। उनकी भटकती आत्मा की मुक्ति के लिए हमने साउथ एशिया फोरम पीपुल्स अगेंस्ट टेरर संस्था के तहत पिंडदान और तर्पण किया। उन्होंने बताया कि हमारी संस्था पूरी दुनिया में आतंकवाद के खिलाफ और उनके पीड़ित लोगों के सहायतार्थ कार्य करती है। आज गयाजी में उन्होंने कोरोना काल में काल काल्वित हुए लोगों की आत्मा की मुक्ति के लिए सामूहिक पिंडदान किया है।

विदित को कि कोरोना काल से पहले हर साल पितृपक्ष के वक्त गया में फल्गु किनारे पिंडदान का कार्यक्रम चलता है। पितृपक्ष का अर्थ ही होता है- पितरों को याद करने का वक्त। इस मौके पर देश-विदेश से लोग गयाजी आकर पिंडदान करते हैं और पितरों का तर्पण करते हैं। ऐसा माना जाता है कि भगवान श्रीराम ने भी अपने पूर्वजों का तर्पण यहीं किया था।

Find Us on Facebook

Trending News