तेजस्वी का दावा - पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा और पुलिस अधिकारियों के कॉल रिकार्ड में छिपा है हत्या का राज

तेजस्वी का दावा - पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा और पुलिस अधिकारियों के कॉल रिकार्ड में छिपा है हत्या का राज

पटना। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बेनीपट्टी हादसे पर बड़ा दावा करते हुए कहा है कि इस हत्याकांड में बिहार के पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा और पुलिस अधिकारियों के बीच हुए बातचीत के कॉल रिकार्ड में सारे राज छिपे हैं, अगर उसकी जांच की जाए तो इस पूरे हत्याकांड के साजिशों का पर्दाफाश हो जाएगा। उन्होंने पूर्व मंत्री को चैलेंज देते हुए कहा कि अगर वह खुद को बेगूनाह कह रहे हैं तो अपनी कॉल रिकार्ड की जांच कराएं। सारी सच्चाई सामने आ जाएगी।

उन्होंने मधुबनी पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब तक जिले में एसपी और डीएसपी रहेंगे, पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल सकता है। यहां तक कि पुलिस ने अभी तक परिवार को सुरक्षा प्रदान करना भी जरुरी नहीं समझा है। तेजस्वी ने कहा यह सिर्फ बड़ी मछली को बचाने की कोशिश है। लोकल एडमिनिस्ट्रेशन का आरोपियों को सपोर्ट मिला है। तेजस्वी का आरोप है कि हत्या से एक दिन पहले विनोद नारायण झा आरोपियों के साथ बैठक कर रहे थे, अगले दिन वारदात होती है और पुलिस सभी हत्यारो को नेपाल छोड़ने जाती है। जो साफ जाहिर कर रहा है कि इसमें किन लोगों का हाथ है।

  मौके पर नहीं पहुंची फोरेंसिक टीम

तेजस्वी ने कहा कि किसी भी घटना के बाद सबसे पहले फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंचती है, लेकिन घटना के एक सप्ताह बाद भी फोरेंसिक टीम नहीं पहुंची थी, खुद एसपी ने इस बात को माना है जो साफ बताता है कि किस तरह इस हत्याकांड को पुलिस कार्रवाई कर रही थी


Find Us on Facebook

Trending News