बिहार सरकार ने नियोजित शिक्षकों की बड़ी मांग मान ली,बीजेपी नेता नवल किशोर यादव ने हर मोर्चे पर शिक्षकों की लड़ी थी लड़ाई

बिहार सरकार ने नियोजित शिक्षकों की बड़ी मांग मान ली,बीजेपी नेता नवल किशोर यादव ने हर मोर्चे पर शिक्षकों की लड़ी थी लड़ाई

पटनाः बिहार के नियोजित शिक्षकों की सबसे बड़ी मांग पूरी हो गई है।नीतीश कैबिनेट ने मंगलवार को सेवा शर्त लागू करने की मंजूरी दे दी है। नियोजित शिक्षकों की सेवा-शर्त लागू करवाने को लेकर लंबी लड़ाई चली।आखिरकार बिहार सरकार ने चुनाव से पहले नियोजित शिक्षकों को बड़ा तोहफा दे दिया. नियोजित शिक्षकों की लड़ाई को मुकाम तक पहुंचाने में बीजेपी के विधान पार्षद नवल किशोर यादव की भी बड़ी भूमिका रही।अभी 10 दिन पहले ही उन्होंने नियोजित शिक्षकों के मुद्दे पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी से मुलाकात की थी।बीजेपी ने सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम सुशील मोदी से नियोजित शिक्षकों की सेवाशर्त एवं नियमावली को शीघ्र-अति-शीघ्र लागू करने की माँग की थी।जिस पर मुख्यमंत्री काफी पॉजिटिव रहे और सकारात्मक निर्णय का आश्वासन दिया था। तब नवल किशोर यादव ने कहा था कि कुछ दिनों के भीतर ही सेवा शर्त दिए जाने की मांग को सरकार लागू कर देगी।

बीजेपी ने नीतीश-मोदी के साथ-साथ नवल यादव को दी बधाई

बिहार के साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्त नियमावली पर कैबिनेट की मुहर लगने के बाद बिहार बीजेपी ने प्रसन्नता जाहिर की है। बिहार भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद का नियोजित शिक्षकों पर बयान आया है। उन्होंने कहा कि नियोजित शिक्षकों के हित में क्रांतिकारी फैसले के लिए बिहार की NDA सरकार को धन्यवाद।- नियोजितों की सेवा शर्त नियमावाली के लिए बिहार के CM और डिप्टी CM का आभार। बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि नियोजित शिक्षकों के संघर्ष और शिक्षक नेता नवल किशोर यादव के प्रयास का फल मिला है। बिहार सरकार शिक्षा और शिक्षकों के बेहतरी के लिए NDA सरकार पुर्णत: संकल्पित है।

 नवल किशोर ने तो पहले ही कह दिया था

नवल किशोर यादव ने बताया था कि नियोजित शिक्षको के प्रतीक्षा की घड़ी खत्म होने वाली है। इस महीने में कभी भी सेवा शर्त को लेकर बिहार सरकार आदेश जारी कर सकती है।सेवा शर्त को लेकर मीटिंग हो गई है,विभाग के स्तर पर कागजी प्रक्रिया पूरी की जा रही है और कभी भी इसका ऐलान हो सकता है।बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने बताया था कि नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्त लागू हो जाने से शिक्षकों को काफी फायदा मिलेगा।इसके लागू होने के बाद कई परेशानी  का एक साथ समाधान हो जाएगा। 

जानिए शिक्षकों को क्या मिलेंगी सुविधायें

वेतन में होगा 15 फीसदी का इजाफा
सरकार के इस फैसले के बाद अब नियोजित शिक्षकों की सैलरी में 15 फीसदी का इजाफा हो जाएगा.अगले साल 1 अप्रैल से 15 फीसदी वेतन नियोजित शिक्षकों का बढ़ जाएगा.

EPF का मिलेगा लाभ
नियोजित शिक्षकों के हक में राज्य सरकार ने जो फैसला लिया है उसके बाद अब नियोजित शिक्षकों और पुस्ताकायाध्यक्षों को एक सितंबर से इपीएफ का लाभ मिलेगा.  इसक साथ ही सेवा में एक बार ट्रांसफर भी मिलेगा.

आश्रितों को मिलेगी अनुकंपा पर नौकरी 
नियोजित शिक्षकों की यह मांग थी कि उनके आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी मिले. इस मांग को भी राज्य सरकार ने मान लिया. अब नियोजित शिक्षकों के परिजन को उनके योग्यता के आधार पर वर्ग 3 और 4 के पदों पर नियुक्त किया जाएगा.

प्रोमेशन मिलेगा, प्रिंसिपल भी बनेंगे

सरकार न नियोजित शिक्षकों के हक में जो फैसला लिया है उसके बाद अब उन्होंने प्रोमोशन देने का भी फैसला किया गया है. योग्यता के आधार पर उन्हें ऊपरी कक्षाओं के लिए रिक्त 50 फीसदी पदों पर प्रोमोशन मिलेगा. इसके साथ ही नियोजित शिक्षकों के प्रिंसिपल बनने का भी रास्ता साफ हो गया है.

Find Us on Facebook

Trending News