बिहार के रंजन सिन्हा ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, लगातार दूसरे साल मिला बेस्ट पीआरओ का अवार्ड

बिहार के रंजन सिन्हा ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, लगातार दूसरे साल मिला बेस्ट पीआरओ का अवार्ड

PATNA : भोजपुरी सिनेमा में उत्कृष्ट जनसंपर्क और अपने कार्य के प्रति प्रतिबद्धता के लिए एक बार फिर से रंजन सिन्हा को दिल्ली प्रेस की सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली पत्रिका सरस सलिल के द्वारा आयोजित भोजपुरी सिने अवार्ड 2023 में बेस्ट पीआरओ का अवार्ड दिया गया। रंजन सिन्हा को यह अवार्ड पिछले साल 2022 में भी पत्रिका सरस सलिल के द्वारा दिया गया था। रंजन सिन्हा ने अब तक 500 से अधिक फिल्मों के लिए जनसंपर्क का कार्य कुशलता और सफलतापूर्वक किया है। यह साल भी उनके लिए बेहद खास रहने वाला है, जहां उनके पास कई बड़े बैनर और निर्माता निर्देशकों की फिल्म होगी। इतना ही नहीं, रंजन सिन्हा मौजूदा दौर में कई बड़े म्यूजिक चैनल के पीआर का भी काम कुशलतापूर्वक कर रहे हैं। भोजपुरी इंडस्ट्री में उनके इसी योगदान को ध्यान में रखकर भोजपुरी सिने अवार्ड में उन्हें बेस्ट पीआरओ के अवार्ड से नवाजा भी गया है। 


लगातार दूसरे साल भोजपुरी सिने अवार्ड में बेस्ट पीआरओ का अवार्ड पाकर रंजन सिन्हा बेहद खुश हैं। उन्हें अपने इस सम्मान का क्रेडिट फिल्म के निर्माता और निर्देशकों को दिया और कहा कि 'नए साल का पहला अवार्ड उन तमाम निर्माता निर्देशको के नाम, जिन्होंने मुझ पर भरोसा कर अपनी फिल्मों के प्रचार प्रसार का जिम्मा मुझे दिया। उसी भरोसे का ही परिणाम है ये अवार्ड। धन्यवाद दिल्ली प्रेस,सरस सलिल परिवार।' रंजन ने हमेशा अपने काम को प्राथमिकता दी है और उसे सफलता से अंजाम तक भी पहुंचाया है। इंडस्ट्री में यही उनकी पहचान है जिस वजह से मेकर्स उन्हें अपने प्रोजेक्ट्स में बतौर पी आर ओ साइन करना पसंद करते हैं। 

बिहार के वैशाली जिले के राजापाकर प्रखंड छोटे से गांव बिरना लखन सेन से निकलकर ख्वाबों की नगरी मुंबई में अपनी पहचान बनाने वाले रंजन सिन्हा आज एक पीआर प्रोफेशनल ब्रांड बन गए हैं। सांसद और लोकप्रिय गायक मनोज तिवारी हो या मेगा स्टार रवि किशन या फिर सक्सेस मशीन खेसारी लाल यादव, पावर स्टार पवन सिंह, सुपरस्टार प्रदीप पांडे चिंटू,  स्टनिंग ब्यूटी अक्षरा सिंह, यूट्यूब क्वीन आम्रपाली दुबे से लेकर नए जेनरेशन के कलाकारों के भी वे पसंदीदा पीआरओ है। रंजन सिन्हा भोजपुरी पीआर इंडस्ट्री में पिछले 18 सालों से लगातार जनसंपर्क का काम कर रहे हैं और लोगों का भरोसा भी अपने गुणवत्तापूर्ण कार्य से जीते रहे हैं। इसलिए इन्हें सरस सलिल के द्वारा आयोजित भोजपुरी सिने अवॉर्ड के अलावा भी कई सारे अवार्ड मिले हैं जो इस बात को पुख्ता करते हैं कि भोजपुरी इंडस्ट्री में रंजन सिन्हा के पीआर स्केल का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। 

रंजन सिन्हा फिल्म के अलावा अपने प्रदेश बिहार में दूसरे राजनीतिक सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी जनसंपर्क का कार्य करते नजर आ जाते हैं। यही वजह है कि बिहार सरकार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा आयोजित प्रकाश पर्व पटना फिल्म फेस्टिवल पटना शॉर्ट रीजनल फिल्म फेस्टिवल गांधी पैनोरमा फिल्म फेस्टिवल बिहार का सम्मान समारोह बाबू वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव महिला स्वास्थ्य पर आधारित नेशनल बॉक्सकॉन कांफ्रेंस साथ - साथ अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों के लिए भी पीआर का कार्य सफलतापूर्वक कर मिशाल पेश किया है।

Find Us on Facebook

Trending News