बिहार प्रशिक्षु शिक्षक संघ का एकदिवसीय राज्यव्यापी धरना, डोमिसाइल एवं कई अन्य मांगों को लेकर है आंदोलन

बिहार प्रशिक्षु शिक्षक संघ का एकदिवसीय राज्यव्यापी धरना, डोमिसाइल एवं कई अन्य मांगों को लेकर है आंदोलन

PATNA: बिहार राज्य प्रशिक्षु शिक्षक संघ का आज एकदिवसीय राज्यव्यापी धरना है।प्रशिक्षु शिक्षक संघ के आह्वान पर संपूर्ण बिहार में हजारों दिसंबर एवं जनवरी CTET अभ्यर्थी भूखे पेट धरना पर बैठे हैं । यह आँदोलन वर्तमान में चल रही 94000 शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को ONLINE आवेदन एवं डोमिसाइल को लेकर है।

बिहार राज्य प्रशिक्षु शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष ऋषिकेश राज ने बताया कि बिहार की नौकरी पर सबसे पहला हक बिहार के नौजवानों का है. बिहार पहले से ही रोजगार के मामले में पिछड़ा हुआ राज्य है,साथ ही फर्जी शिक्षकों को लेकर सरकार पहले से ही परेशान है । मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राज्य में करीब एक लाख से भी अधिक की संख्या में फर्जी शिक्षक बहाल हो चुके हैं.इसको लेकर पटना उच्च न्यायालय में सरकार की बार-बार फजीहत भी हो रही है.इसके बावजूद भी फर्जी शिक्षक हट नही रहे हैं । इतना सबकुछ होने के बाद भी सरकार विपक्ष के दबाव में आकर पहले से की गई गलती की पुनरावृत्ति कर रही है ।

संघ का कहना है कि वर्तमान में चल रही इस बहाली प्रक्रिया को OFFLINE आवेदन के साथ-साथ पंचायत स्तर पर नियोजन इकाई द्वारा नियोजित करने से फर्जीवाड़ा की गुंजाइश काफी अधिक है । साथ ही डोमिसाइल लगाए बिना इस बहाली को पुरा करने से अन्य राज्यों के हजारों अभ्यर्थी इसमें बहाल हो जाएंगे। यह बिहार के अभ्यर्थियों के साथ नाइंसाफी है और उनके रोजगार वाले सपनों को आग की भट्ठी में झोंकने के समान है । इन्हीं मांगों को लेकर हजारो अभ्यर्थी आज अपने घर पर ही लाॅकडाउन का पुरी तरह पालन करने हुए एकदिवसीय धरना पर बैठे हुए हैं । अभ्यर्थियों की ओर से प्रदेश अध्यक्ष ऋषिकेश राज ने बताया कि सरकार यदि हमारी उपरोक्त मांगों पर गंभीरतापूर्वक नहीं विचार करती है और दिसम्बर, जनवरी CTET उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को इस बहाली में शामिल करने की दिशा में ठोस कदम नहीं उठाती है तो हमलोग लाॅकडाउन समाप्त होने के बाद पुरे राज्य के हर जिला मुख्यालयों पर धरना देंगे एवं आवश्यकता महसूस होने पर सचिवालय का घेराव करने केलिए भी मजबूर होंगे ।


Find Us on Facebook

Trending News