प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन की काउंसेलिंग कैंप के जरिए बिहार में एक ही दिन में होगी पूरी !

प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन की काउंसेलिंग कैंप के जरिए बिहार में एक ही दिन में होगी पूरी !

डेस्क... बिहार में 90000 से अधिक शिक्षकों की बहाली से जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है। आपको बता दें कि प्राथमिक शिक्षकों नियोजन का एक ही दिन पूरे बिहार में काउंसेलिंग होगी। शिक्षा विभाग 90 हजार से अधिक प्राथमिक शिक्षक नियोजन के मामले में अब फूंक-फूंक कर कदम उठा रही है। हालांकि अंतिम मेरिट लिस्ट का प्रकाशन शेड्यूल जारी होने के बाद अब वह काउंसलिंग के लिए रणनीति बना रही है । सूत्रों के मुताबिक इस बार काउंसलिंग कैंप के जरिए कराई जा सकती है। सबसे बड़ी बात यह है कि अभ्यर्थी एक ही दिन का मौका मिलेगा। 

पूरे बता पूरे बिहार में एक ही दिन अगर काउंसलिंग होता है तो इससे ज्यादा से ज्यादा अभ्यर्थियों का चयन होगा, क्योंकि कई दिन तक काउंसलिंग नहीं होगा, इसलिए एक अभ्यर्थी कई जगह काउंसलिंग नहीं करा सकते हैं। अगर पूरे बिहार में एक ही दिन काउंसलिंग होगा तो एक अभ्यर्थी कहीं एक ही जगह काउंसलिंग में भाग ले सकते हैं। साथ ही इससे कम अंक वालों को भी भाग लेने का मौका मिलेगा। 

लिहाजा, शिक्षा विभाग इस बार फूंक-फूंक पर कदम रख रही है, क्योंकि आपको याद होगा कि पिछली बार इतने बड़े काफी स्तर पर फर्जीवाड़ा शिक्षकों की बहाली हुई थी इसका खामियाजा अभी भी विभाग को भुगतना पड़ रहा है। संभवत: इस बार काउंसलिंग कैंप लगाकर पूरे बिहार में एक ही दिन करने पर विचार चल रही है।

नियोजन से जुड़े जानकारी के मुताबिक ऐसा करने के पीछे सरकार की यह मंशा बताई जा रही है कि 90700 से अधिक पदों पर अधिक से अधिक लोगों की नियुक्ति दिया जा सके। सामान्य तौर पर ऐसा देखा गया है कि एक से कई दिन तक काउंसलिंग कराने से अधिक अंक वाला एक ही अभ्यर्थी का चयन कई जगहों पर हो जाता है, इसलिए कई ऐसे अभ्यर्थी छंठ जाते हैं जो बहुत कम अंक से पीछे छूट जाते हैं। 

हालांकि इसके बाद जो है प्रतीक्षा सूची भी जारी करनी पड़ती है। आपको बता दें कि पहला राउंड कंप्लीट हो जाने के बाद सेकेंड लिस्ट जारी होगी, जिसे हम वेटिंग लिस्ट भी कह सकते हैं। इसके बाद प्रतीक्षा सूची भी जारी करनी पड़ती है। कुल मिलाकर एक बात तो है कि पूरे बिहार में एक ही दिन अभ्यर्थियों की काउंसलिंग कराई जाती है तो ज्यादा से ज्यादा अभ्यर्थियों को काउंसलिंग में भाग लेने का मौका मिलेगा और ज्यादा से ज्यादा अभ्यर्थी काउंसलिंग करा पाएंगे और उनका चयन भी हो पाएगा। 

हालांकि इस संबंध में अभी तक कोई औपचारिक निर्णय नहीं लिया गया है, लेकिन आप सभी को बता दें कि सबसे बड़ी बात कि फिलहाल ओपन कैंप के जरिए काउंसलिंग की जाएगी, लेकिन वरिष्ठ पदाधिकारी और दंडाधिकारी की मौजूदगी में लगने वाली इस कैंप में काउंसलिंग कराए जाने की अधिकारिक पुष्टि भी दी जाएगी।

जानकार बता रहे हैं कि पंचायत स्तर पर होने वाले काउंसेलिंग जो है वो ब्लॉक स्तर पर और ब्लॉक स्तर पर जो है वो जिला स्तर पर कराया जाएगा। इससे जो है ज्यादा से ज्यादा अभयर्थियाें का चयन हो पाएगा। इससे अधिक से अधिक अभ्यर्थियों का चयन हो पाएगा। 

पटना से मदन कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News