BJP का तीसरा विकेट उखड़ाः बिहार बीजेपी में दारूबाज-गालीबाज व महिलाओं की इमेज से खिलवाड़ करने वाले नेताओं की भरमार, अब किसका नंबर?

BJP का तीसरा विकेट उखड़ाः बिहार बीजेपी में दारूबाज-गालीबाज व महिलाओं की इमेज से खिलवाड़ करने वाले नेताओं की भरमार, अब किसका नंबर?

PATNA: चाल चरित्र और चेहरा अलग बताने वाली पार्टी में दारूबाज-गालीबाज-महिलाओं के बारे में घिनौनी बात करने वाले नेताओं की भरमार है। एक साल में आधे दर्जन बीजेपी नेताओं की करनी पब्लिक के सामने आ चुकी है। दारूबाज-गालीबाज नेताओं की वजह से पार्टी की प्रतिष्ठा भी धूमिल हुई है। हालांकि वीडियो-ऑडियो सामने आने और पार्टी की भद्द पिटने के डर से कई नेताओं पर कार्रवाई भी की गई है। बिहार में बीजेपी का 45 संगठन जिला है। इनमे से एक साल के दरम्यान तीसरे जिलाध्यक्ष का विकेट गिर चुका है। 

बीजेपी के तीसरे जिलाध्यक्ष का विकेट गिरा

बिहार बीजेपी ने पिछले साल दारूबाज औरंगाबाद जिलाध्यक्ष,शेखपुरा के गालीबाज जिलाध्यक्ष को हटा दिया था। इस कड़ी में अब झंझारपुर जुड़ गया है। बीजेपी नेतृत्व ने झंझारपुर संगठन जिला के शराबी जिलाध्यक्ष को हटा दिया है। इस तरह से तीन जिलों के जिलाध्यक्षों को एक-डेढ़ साल के अंदर हटाया गया है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने झंझारपुर के शराबी जिलाध्यक्ष सियाराम साह को हटा कर नया जिलाध्यक्ष बनाया है। बीजेपी नेतृत्व ने राघव कुमार को झंझारपुर संगठन जिला का नया जिलाध्यक्ष बनाया गया है। 

नेताजी शराब पार्टी कर हो गये थे नंग-धड़ंग

पिछले साल बीजेपी के एक जिलाध्यक्ष ने ऐसा जाम छलकाया की शरीर पर पड़ा कपड़ा भी छलक उठा था। शराब का नशा नेताजी को उनके कुर्ते और पायजामे पर भी चढ़ गया और सबके सामने उनका पायजामा ही उतर गया था। तस्वीर सामने आने के बाद नेतृत्व ने औरंगाबाद जिलाध्यक्ष से पीछा छुड़ाया। शराब पीने और फिर नंग-धड़ंग तस्वीर मीडिया में आने के बाद बिहार बीजेपी नेतृत्व ने औरंगाबाद के तत्कालीन जिलाध्यक्ष संजय मेहता को पद से हटा दिया था। इसके कुछ ही दिन बाद जून 2020 में शेखपुरा के बीजेपी जिला अध्यक्ष रहे दोरो बिंद का ऑडियो सामने आया था। वायरल ऑडियो में पार्टी की महिला नेताओं और एक खास समाज को लेकर अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया गया था। ऑडियो वायरल होने के बाद बिहार बीजेपी के अंदरखाने में हलचल मच गई। बीजेपी नेतृत्व पर कार्रवाई को लेकर भारी दबाव के बीच जिलाध्यक्ष दोरो बिंद को हटाया गया था। अब इस कतार में झंझारपुर भी शामिल हो गया है। भद्द पिटने के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने शराबी जिलाध्यक्ष को हटा दिया है। 

महिलाओं को उपभोग की वस्तु बता रहे थे बीजेपी नेता

इसके अलावे  सीतामढ़ी की बीजेपी की एक नेत्री से बीजेपी पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश स्तरीय नेता ने फोन पर अपशब्द और घिनौनी बातों का प्रयोग किया था। बीजेपी नेतृत्व ने उस नेता को प्रमोट करते हुए प्रदेश स्तर के विंग का संयोजक बना दिया था। महिला नेत्री की शिकायत और ऑडियो वायरल होने के बाद सीतामढ़ी बीजेपी यूनिट ने आरोपी प्रदेश स्तरीय नेता के खिलाफ कार्रवाई को लेकर नेतृत्व को पत्र लिखा था। लेकिन महिलाओं के बारे में अपशब्द बोलने वाले उस नेता पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं दरभंगा के एक नेता ने भी महिला विंग की एक सदस्या के बारे में फोन पर अपशब्दों का प्रयोग किया. उस समय इसका ऑडियो भी वायरल हुआ था.

झंझारपुर बीजेपी जिलाध्यक्ष का बोतल प्रेम 

पिछले महीने झंझारपुर के बीजेपी जिलाध्यक्ष का शराब पीते वीडियो वायरल हुआ। झंझारपुर बीजेपी संगठन जिला के जिलाध्यक्ष सियाराम साह का एक वीडियो 19 जुलाई को सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। वायरल वीडियो में बीजेपी नेता सियाराम साह झंझारपुर संगठन जिला के कार्यालय में बैठकर शराब पीते नजर आए थे। वीडियो सामने आने के बाद पूरे बिहार में इसकी चर्चा हुई थी। वीडियो के माध्यम से विपक्षी दल CM नीतीश की शराबबंदी की पोल खोल रहे थे। झंझारपुर पुलिस ने उन पर शराबबंदी कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने सियाराम साह के वीडियो को आधार बनाकर उन पर FIR दर्ज कर लिया. झंझारपुर थाना में दर्ज हुए इस मामले में जिलाध्यक्ष सियाराम साह के साथ ही दो अज्ञात लोगों पर भी FIR किया गया था। एक महीने बाद बीजेपी नेतृत्व की नींद खुली और शराबी जिला अध्यक्ष को हटाकर नये को कमान दिया गया है। 

 

Find Us on Facebook

Trending News