कलयुगी पुत्र का काला कारनामा, सम्पत्ति हड़पने के लिए पिता को किया कैद

कलयुगी पुत्र का काला कारनामा, सम्पत्ति हड़पने के लिए पिता को किया कैद

मुंगेर. एक कलयुगी बेटे ने संपत्ति हड़पने की चाहत में अपने 75 वर्षीय पिता को करीब तीन महीनों तक घर में कैद कर रखा. मुंगेर में पेशे से होम्योपैथिक डॉक्टर रहे डॉ. योगेंद्र को कैद में न तो ठीक से खाना दिया जाता था और ना ही किसी प्रकार की सुविधा. करीब करीब मरणासन्न अवस्था में पहुंच चुके डॉ योगेन्द्र की बेटी जब पिता से मिलने पहुंची तब उसे पिता की नाजुक हालत का पता चला. 

बेटी ने आनन फानन में बीमार पिता को अस्पताल में दाखिल कराया है लेकिन उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई है. बेटी रूपा का कहना है कि उसका छोटा भाई दीपक पिता की संपत्ति हड़पना चाहता है. इसी के लिए दीपक ने पिता को कमरे में कैद कर रखा था और संपत्ति लिखवाने के लिए कागजात पर पिता के हस्ताक्षर कराने का दबाव बना रहा था. बेटी ने जब पिता को कमरे में नारकीय स्थिति में देखा तो उसने मोहल्ले के लोगों को लेकर जबरन दरवाजा खुलवाया. 

डॉ योगेन्द्र का बड़ा बेटा नीरज अपनी माँ के साथ अलग रहता है. रूपा के अनुसार उसके पिता तीन महीनों से कैद में रहने के कारण शरीर में कई जख्मों से ग्रसित हो गये हैं. उनकी हालत गंभीर है. हालांकि पिता को कैद करने का आरोपी दीपक इसे अपने बहन और भाई नीरज की साजिश बता रहा है. दीपक का कहना है कि उसकी बहन ने पहले साजिश कर माँ और पिता को दोनों भाइयों के बीच अलग अलग रहने को मजबूर किया. अब वह बड़े भाई के साथ मिलकर फिर से उसे बदनाम कर रही है. बीमार पिता के साथ ज्यादती होने का षड्यंत्र रचकर रूपा अब नीरज के साथ संपत्ति हडपने की फ़िराक में है. 


Find Us on Facebook

Trending News