बिल्डर का कारनामा! पटना के 'आशीर्वाद इंजीकॉन' के मालिक पर दर्ज 'धोखाधड़ी' केस की जांच जारी, सबूतों के आधार पर होगी कार्रवाई

बिल्डर का कारनामा! पटना के 'आशीर्वाद इंजीकॉन' के मालिक पर दर्ज 'धोखाधड़ी' केस की जांच जारी, सबूतों के आधार पर होगी कार्रवाई

PATNA: पटना में ओवरसीज बैंक के 250 कर्मियों से 16 करोड़ की ठगी करने वाले बिल्डर के खिलाफ दर्ज केस में अनुसंधान जारी है। पटना के श्रीकृष्णापुरी थाने की पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद अनुसंधान तेज कर दिया है। पुलिस ने आशीर्वाद इंजीकॉन कंपनी के निदेशक अजय सिंह का भी पक्ष जाना है। अब इस मामले में पुलिस सबूतों के आधार पर आगे की जांच कर रही है। 

पटना पुलिस की जांच जारी 

बता दें, पीड़ित ग्राहकों ने राजधानी पटना के श्रीकृष्णापुरी थाने में 26 जून को मुकदमा दर्ज कराया  था। आशीर्वाद इंजीकॉन कंपनी के निदेशक अजय सिंह पर धारा-420 के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद वादियों से इस संबंध में प्रमाण मांगे थे। इसके बाद आरोपी बिल्डर ने भी पुलिस के समक्ष अपना पक्ष रखा है और कागजात सौंपे हैं। श्रीकृष्णापुरी थाने की पुलिस अब आगे की अनुसंधान कर रही है। इस केस का पर्यवेक्षण एएसपी कर रहे हैं। बताया जाता है कि पीड़ितों ने पुलिस के समक्ष बिल्डर अजय सिंह को जो पैसे दिये थे उस संबंध में सबूत पेश किया है। वहीं बचाव में बिल्डर ने भी कुछ कागजात दिये हैं। श्रीकृष्णापुरी थानाध्यक्ष का कहना है कि केस का अनुसंधान किया जा रहा है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी। 

पीड़ितों ने एसएसपी से की थी मुलाकात

इसके पहले पीड़ित ग्राहकों पटना एसएसपी से मुलाकात की थी। बैकर्स ने एसएसपी से फरियाद किया था कि बिल्डर अजय सिंह 2014 से ही फ्लैट देने के नाम पर इंडियन ओवरसीज बैंक के 250 लोगों से पैसा लेकर बैठा है। आज तक वो फ्लैट नहीं दिया। जब बिल्डर से बात करने गये तो उल्टे उसने श्रीकृष्णापुरी थाने में केस दर्ज करा दिया। शिकायत सुन एसएसपी ने संज्ञान लिया, तब जाकर उस बिल्डर के खिलाफ फ्रॉड का केस दर्ज किया गया. 

धारा 420 के तहत बिल्डर पर केस दर्ज

आशीर्वाद इंजीकॉन कंपनी के मालिक अजय सिंह के खिलाफ इंडियन ओवरसीज बैंक कर्मी ए. एन. सिंह की पत्नी ललिता सिंह और विनोद कुमार की पत्नी पूनम कुमारी ने श्रीकृष्णापुरी थाने में 26 जून को केस दर्ज कराया था। इन लोगों का आरोप है कि बिल्डर अजय सिंह पैसा लेकर फ्लैट नहीं दे रहे. आवेदन के बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 के तहत केस दर्ज किया है. 

बिहटा में प्लैट देने के नाम पर करोड़ों की ठगी के आरोप 

पीड़ितों ने बताया है कि आशीर्वाद इंजीकॉन कंपनी के निदेशक अजय सिंह ने बिहटा में प्रोजेक्ट के नाम पर इंडियन ओवरसीज बैंक से जुड़े 250 लोगों से 2014 में ही पैसा लिया था।सात साल बाद भी ग्राहकों को न फ्लैट मिला और न पैसा ही वापस हुआ. 12 जून को जब 25-30 ग्राहक आशीर्वाद इंजीकॉन के निदेशक अजय सिंह से फ्लैट की मांग करने दफ्तर गए तो उल्टे बिल्डर ने बाउंसरों से मिलकर ग्राहकों को पिटवाया। इतना से भी मन नहीं भरा तो बिल्डर ने थाने में मारपीट का केस दर्ज करा दिया है। 


Find Us on Facebook

Trending News