चुनावी जंग जीतकर विधानसभा पहुंचे इकलौता युवा चिकित्सक,जदयू के टिकट पर लड़े थे चुनाव

चुनावी जंग जीतकर विधानसभा  पहुंचे इकलौता युवा चिकित्सक,जदयू के टिकट पर लड़े थे चुनाव

पटना... बिहार विधानसभा के चुनाव में जंग जीतकर यूं तो कई नए युवा चेहरा विधानसभा पहुंचने में कामयाब रहा है, लेकिन चिकित्सा जगत से एकमात्र तेजतर्रार युवा नेता डॉक्टर संजीव जो एक बेहतर सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं जिन्हें सामाजिक कार्यो की वजह से अपने इलाके में जबरदस्त लोकप्रियता हासिल है। वे भी परबत्ता विधानसभा से विधायक चुने गए हैं। डॉक्टर संजीव बिहार के एक जाने माने चिकित्सक हैं। 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में इन पर सीएम नीतीश कुमार ने भरोसा जताते हुए परबत्ता से जदयू के उम्मीदवार बनाया था। सीएम नीतीश कुमार के पैमाने पर खरा उतरते हुए डॉक्टर संजीव ने चुनावी जंग में अपने प्रतिद्वन्दी को अंत अंत तक परास्त कर दिया। 

डॉक्टर संजीव खगड़िया लोकसभा के अंतर्गत आनेवाले विधनसभाओं में जीत दर्ज करने वाले उम्मीदवारों में से सर्वाधिक वोट हासिल करने वाले जनप्रतिनिधि बने हैं। 

डॉ. संजीव को 77226 मत मिला है। डॉक्टर संजीव के पिता भी एक कुशल राजनीतिज्ञ रह चुके हैं। बिहार का चिकित्सा जगत भी डॉक्टर संजीव के जनप्रतिनिधि चुने जाने से काफी खुश और आशान्वित है। बिहार विधानसभा में चिकित्सको की आवाज बनकर उनकी समस्याओं को सरकार से अवगत कराने की जिम्मेदारी भी इनपर होगी। एक सुलझे हुए इंसान होने के साथ ही एक सफल चिकित्सक के तौर पर बिहार की राजधानी पटना में अपनी पहचान बना चुके डॉक्टर संजीव की सम्वेदनशीलता सामाजिक कार्यकर्ताओं में काफी देखी जाती रही है। बगैर चुनाव जीते ही जनता के सुख दुख के साथी बने डॉक्टर संजीव  बताते हैं जनता मालिक है उनका सेवा ही हमारे जीवन का मुख्य लक्ष्य है। 

सीएम नीतीश कुमार चिकित्सा जगत से विधानसभा पहुंचे डॉक्टर संजीव को क्या जिम्मेदारी सौपेंगे यह तो वक्त बताएगा, लेकिन राजनीतिक हल्के में यह चर्चा का विषय है एक नौजवान और तेजतर्रार चिकित्सक सामाजिक कार्यो की बदौलत राजनीतिक पगडंडियों पर भी मिसाल कायम करेगा।


Find Us on Facebook

Trending News