भागलपुर में अंचल निरीक्षक को लोगों ने घंटों बनाया बंधक, काम के बदले घूस मांगने का आरोप

भागलपुर में अंचल निरीक्षक को लोगों ने घंटों बनाया बंधक, काम के बदले घूस मांगने का आरोप

BHAGALPUR : भागलपुर सन्हौला अंचल के सीआई सह कर्मचारी विरेंन्द्र लाल को घूस लेने के आरोप में हजारों की संख्या में लोगों ने चार घंटे तक बंधक बनाया. अंचल के लोगों का रसीद काटने एवं जाति आवासीय प्रमाण पत्र के लिए अवैध रुपए की वसूली करने का गंभीर आरोप था. बताया जा रहा है की वे दलालों के द्वारा जाति आवासीय के नाम पर 200 रूपये और दाखिल खारिज के नाम पर 25000 रुपये तक की वसूली किया करते थे. 

इसी को लेकर आक्रोशित लोगों ने सीआई सह कर्मचारी को बंधक बनाकर घंटों तक जमकर हँगामा किया. मिली जानकारी के अनुसार पूर्व जिला परिषद सदस्य संजीत सुमन को ग्रामीणों ने लिखित शिकायत किया था कि कर्मचारी ने कई आदमी से रसीद और दाखिल खारिज के नाम पर लाखों की ठगी की है. वहीं लिखित शिकायत के अनुसार माला देवी एवं उषा देवी से दाखिल खारिज करवाने के नाम पर 10,000 रूपये लिया था. प्रताप कुमार से जमाबंदी कराने के नाम पर 25,000 रूपये, मिथिलेश कुमार दास से 4500 रुपया. ऐसे कई लोगों से रुपये लेने का शिकायत मिली थी. 

वहीं कई छात्र छात्राओं से जाति, निवासी, आय प्रमाण -पत्र पर हस्ताक्षर करने के नाम पर   200 रुपये से 300 रूपये तक वसूली करने का भी आरोप था. घूस की सूचना मिलते ही जिला परिषद प्रतिनिधि संजीत सुमन के साथ भारी संख्या में लोगों ने सन्हौला डाकबंगला जाकर कर्मचारी वीरेंद्र लाल को बंधक बना लिया और कार्रवाई करने की मांग करने लगे. साथ ही पैसे लौटाने की बात कहकर हँगामा करने लगे. 

करीब 4 घंटे तक पब्लिक और कर्मचारी के बीच काफी नोक झोंक और हाई भोल्टेज ड्रामा चला. इसकी सूचना अंचलाधिकारी को दिया गया. तब अंचलाधिकारी अपने दल बल के साथ सन्हौंला जिला परिषद डाक बंगला पहुंचे. वहीं घूस में लिये गये पैसा लौटाने की बात कहकर किसी तरह मामले को शांत कराया गया. 

भागलपुर से मनोज कुमार सिंह 

Find Us on Facebook

Trending News