सीएम नीतीश की नई चिंता, दिल्ली के अखबारों में बिहार के अच्छे कामों की खबर नहीं

सीएम नीतीश की नई चिंता, दिल्ली के अखबारों में बिहार के अच्छे कामों की खबर नहीं

पटना. बिहार में शराब की खाली बोतलें मिलने की चर्चा दिल्ली के अंग्रेजी अखबारों में प्रकाशित होती हैं लेकिन बिहार में जो सरकार बढिया काम कर रही उसकी चर्चा दिल्ली के अखबारों में नहीं होती. यह कहना है बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का. 

सोमवार को जनता दरबार के बाद संवाददातों से बात करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि आज भी जनता दरबार में कई लोग आए जिन्होंने शराबबंदी का उल्लंघन करने वालों से सम्बंधित कई जानकारियों साझा की. उनकी शिकायत पर हमने अधिकारीयों को कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. राज्य में कई जगहों पर मिली शराब की खाली बोतलों पर नीतीश ने कहा कि यह देखना होगा कि क्या वाकई में वहां शराब पीने जैसी बात हुई थी या फिर किसी ने जान बूझकर शराब की खाली बोतलें फेंक दी हैं. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब 2016 में शराबबंदी का निर्णय लिया गया था तब शुरू में बड़े शहरों में बाद में इसे लागू करने की बात हुई थी लेकिन जनता की मांग पर हमने मात्र 5 दिनों के बाद ही इसे पूरे राज्य में एक साथ लागू कर दिया. पटना में शराबबंदी पर अधिकारियों को सख्त रवैया अपनाने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि अगर पटना में सख्ती बरती जाएगी तभी शेष राज्य में बढ़िया संदेश जाएगा. शराबबंदी को सख्ती से लागू करने के लिए अधिकारीयों को पहले ही निर्देश दिया गया है और पूरे राज्य में उसका परिणाम भी दिख रहा है. 


Find Us on Facebook

Trending News