कांग्रेस का ऐलान, केंद्र की सत्ता में लौटे तो खत्म करेंगे तीन तलाक कानून

कांग्रेस का ऐलान, केंद्र की सत्ता में लौटे तो खत्म करेंगे तीन तलाक कानून

NEW DELHI :  कांग्रेस अब खुलकर तीन तलाक के समर्थन में उतर आई है। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने बड़ा ऐलान करते हुए सत्ता में आने पर तीन तलाक कानून खत्म करने की बात कही है। दिल्ली में पार्टी के अल्पसंख्यक अधिवेशन के दौरान पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देब की ओर से यह ऐलान किया गया। अल्पसंख्यकों के बीच पार्टी का आधार मजबूत करने के मकसद से गुरुवार को राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन किया था। 

मुसलमानों को रिझाने की कोशिश में कांग्रेस

 कांग्रेस पार्टी ने गुरुवार को ऐलान किया कि अगर वह सत्ता में आई तो तीन तलाक कानून को खत्म कर दिया जाएगा। कांग्रेस ने कहा कि यह कानून मोदी सरकार का एक और हथियार है, जिसका इस्तेमाल वे मुस्लिम पुरुषों को जेल में डालने के लिए और थानों में खड़े करने के लिए करते हैं। मुस्लिम महिलाओं ने इसका पुरजोर विरोध किया है और कांग्रेस भी इस कानून का विरोध करती है। यह महिलाओं का सशक्तिकरण नहीं करेगा बल्कि उनके और मुस्लिम पुरुषों के बीच विभाजन पैदा करेगा। अधिवेशन में बतौर मुख्य अतिथि आए राहुल ने इस दौरान मोदी सरकार पर तीखे वार किए। 

बीजेपी ने इसको लेकर कांग्रेस पर हमला बोला है। बीजेपी ने इस कांग्रेस की वोट बैंक की राजनीति करार दिया है। पार्टी ने कहा है कि मुसलमानों को रिझाने के लिए कांग्रेस ने ये ऐलान किया है।

बता दें कि मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए तीन तलाक पर बैन लगाया है। तीन तलाक देने पर पुरुषों को सजा दिलाने का कानून बनाया है।


Find Us on Facebook