जेडीयू के नए प्रदेश अध्यक्ष को बधाई देने वालो का लगा तांता, झाझा विधायक ने कहा - इनके नेतृत्व में संगठन को मजबूती मिलेगी

जेडीयू के नए प्रदेश अध्यक्ष को बधाई देने वालो का लगा तांता, झाझा विधायक ने कहा - इनके नेतृत्व में संगठन को मजबूती मिलेगी

जमुई। बिहार प्रदेश जेडीयू के कार्यकारिणी की बैठक में सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने फैसले से सबको चौंका दिया। कार्यकारिणी की बैठक में जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष के पद पर दादा की जगह महनार के पूर्व विधायक उमेश कुशवाहा के नाम का एलान होने के साथ ही उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस फैसले का स्वागत करते हुए झाझा के जेडीयू विधायक व पूर्व मंत्री दामोदर रावत और जेडीयू के जिला महासचिव पंकज कुमार सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष को बधाई देते हुए कहा कि युवा साथी के नेतृत्व में संगठन को और मजबूती मिलेगी। झाझा विधायक ने कहा कि उमेश कुशवाहा महनार से पूर्व विधायक रह चुके हैं और युवा है इसलिए पूरे जोश के साथ पूरे बिहार में संगठन को मजबूती प्रदान करने में अपनी पूरी ताकत लगा देंगे। उन्होनें कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वशिष्ठ बाबू के अस्वस्थ्य रहने के कारण उन्हें उनको इस जिम्मेवारी से मुक्त किया और इसका प्रस्ताव खुद दादा ने ही  दिया था।

झाझा विधायक ने कहा कि पार्टी को मजबूत करने को लेकर जमुई जिला के जेडीयू का एक-एक साथी उनके साथ कंधे से कंधे मिलाकर काम करेगा।मिली जानकारी के अनुसार जेडीयू के नए प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा को खुद इस बात की जानकारी नहीं थी कि उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेवारी दी जा रही है। जेडीयू सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नीतीश कुमार ने उमेश कुशवाहा पर भरोसा जताकर एक बार फिर यह संदेश देने की कोशिश की है कि वो अपने पुराने वोट बैंक लव कुश की तरफ एक बार फिर आना चाहते हैं।

राजपूत जाति से आनेवाले जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह एक लंबे अरसे से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद पर बने हुए थे लेकिन अब जेडीयू में राष्ट्रीय अध्यक्ष लेकर प्रदेश अध्यक्ष तक की कुर्सी पर अपने पुराने वोट बैंक  के आधार पर अपने तबके से आने वाले नेताओं को कमान सौंपी गई है। अब देखना है इसका लाभ जेडीयू को  कितना मिल पाता है।

Find Us on Facebook

Trending News