बिहार के युवाओं को रहना होगा अलर्ट, वायरस ने यूथ को बना लिया है अपना सॉफ्ट टारगेट

बिहार के युवाओं को रहना होगा अलर्ट, वायरस ने यूथ को बना लिया है अपना सॉफ्ट टारगेट

पटना : बिहार में बढ़ते कोरोना के संक्रमण के बीच एक आंकड़ा  यह बताता है कि युवाओं को सावधान रहना होगा. बिहार में कोरोना युवाओं पर तेजी से अटैक कर रहा है. बिहार में कोरोना में कोरोना संक्रमण के सबसे कम शिकार बच्चे और 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति हैं. 

वहीं जानकारी के अनुसार राज्य में सबसे अधिक 21 से 30 साल के युवा कोरोना संक्रमित हुए हैं. राज्य के कोरोना संक्रमित मरीजों में 28 फीसदी इसी आयु समूह के संक्रमित मरीज हैं. जबकि 24 फीसदी कोरोना संक्रमित मरीज 31 से 40 वर्ष के आयु समूह वाले व्यक्ति हैं.


इनमें भी अबतक बच्चे बुजुर्गों की तुलना में एक फीसदी कम संक्रमित हुए है. स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बिहार में 0-10 साल की आयु समूह में शामिल बच्चे राज्य के कुल संक्रमितों में मात्र चार फीसदी ही हैं. जबकि पांच फीसदी कोरोना संक्रमित मरीज 60 वर्ष से अधिक उम्र के है. विभाग के अनुसार राज्य में 0 से 10 साल की उम्र वाले 3008 बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं. वहीं, 65 वर्ष से अधिक उम्र वाले 4736 बुजुर्ग कोरोना संक्रमण से संक्रमित हुए हैं.

वहीं राज्य में 11 से 20 साल के किशोर और 51 से 60 साल के व्यक्ति समान रूप से कोरोना संक्रमित हुए हैं. दोनों आयु समूह के 11-11 फीसदी संक्रमित मरीज की पहचान की गई है.जानकारी के अनुसार राज्य में 24 फीसदी कोरोना संक्रमित मरीज की पहचान 31 से 40 साल के आयु समूह वाले वर्ग से की गई है. ये उच्च जोखिम वाले 21 से 30 साल के व्यक्तियों के समूह के बाद सबसे अधिक संक्रमण के शिकार हुए हैं.

Find Us on Facebook

Trending News