सात समन्दर पार कर छठ पूजा का हिस्सा बनने पहुंचे विदेशी पर्यटक, खरना के प्रसाद को बताया 'लाजवाब'

सात समन्दर पार कर छठ पूजा का हिस्सा बनने पहुंचे विदेशी पर्यटक, खरना के प्रसाद को बताया 'लाजवाब'

BODH GAYA : लोक आस्था का महापर्व अब बिहार और भारत का नहीं रह गया। अब इसकी पहचान इंटरनेशनल हो गई है।  इस त्योहार मे विदेशी लोग भी शामिल होने लगे हैं। पहले भी कई विदेशी मेहमान  भारत की सांस्कृतिक में लीन होकर इस पवित्र त्यौहार को बड़े ही धूमधाम से मनाया है।

 दरअसल जर्मनी और इटली के चार सदस्य छठ पूजा में शामिल होने के उद्देश्य से बोधगया आए हैं। बोधगया के बकरौर गांव में आए इन पर्यटकों में तीन महिला और एक पुरुष शामिल है । शनिवार को खरना के लिए बनाए जा रहे प्रसाद विदेशी मेहमानों ने स्वयं बनाकर बड़े ही हर्षोल्लास के साथ गंध धूप देने के बाद  खरणा का प्रसाद ग्रहण किया, उसके बाद आज रविवार को अस्ताचलगामी सूर्य के अर्घ्य में शामिल होंगे। इसमें इंलिया, पामी,और जोलीना के साथ एक विदेशी युवक इल्स भी शामिल है विदेश से आए जोलीना ने बताई कि भारतीय संस्कृति में छठ एक महान पर्व है,जिसे अब विदेशों में भी लोग जानने लगे हैं। 

उन्होंने कहा कि इस पर्व का सबसे खास बात यह है कि डिवोटी को तीन दिनों तक उपवास रहने के बाद बहुत ही साफ सफाई का ध्यान रखना पड़ता है ।पूरी तरह से पवित्र होकर पूजा की जाती है। 

जोलीना ने बताया कि छठ पूजा में शामिल होने के उद्देश्य से हम इंडिया आईं हूं और त्यौहार के अंतिम दिनों तक पूजा करूंगी, आपको बता दें कि पहले भी कई विदेशी मेहमान इस पवित्र त्यौहार में शामिल होने के लिए सात समंदर पार करके आते रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News