दयानंद वर्मा के परिजनों से मिली भाकपा माले की 5 सदस्यीय टीम, 24 फ़रवरी को धरना का किया एलान

दयानंद वर्मा के परिजनों से मिली भाकपा माले की 5 सदस्यीय टीम, 24 फ़रवरी को धरना का किया एलान

BAGAHA : पूर्व जिला पार्षद के हत्या की जांच को लेकर भाकपा-माले की पांच सदस्यीय टीम परिजनों से मिली. जदयू विधायक रिंकू सिंह की विधानसभा सदस्यता रद्द करने और बगहा एसडीपीओ समेत पुलिस कर्मियों को निलंबित करने के लिए बगहा अनुमंडल परिसर में भाकपा माले 24 फरवरी को धरना देगी. भाकपा माले जिला कमेटी के सदस्य सुनील कुमार राव के नेतृत्व में रविन्द्र कुमार रवि, इनौस जिला संयोजक फरहान रजा, सुनील कुमार यादव, अरूण सहित 5 सदस्य जांच टीम बेतिया निवास पर पहुंच कर उनकी पत्नी और परिजनों से मिलकर हत्या कांड व मुकदमा के संबंध में जानकारी हासिल की. साथ ही पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने में साथ देने का भरोसा दिया है. आशय की जानकारी भाकपा माले के वरिष्ठ नेता सुनील राव ने दिया है. 

आगे बताया है कि नीतीश राज सत्ता संरक्षित अपराधी, माफियाओं के राज में तब्दील हो गया है, जो टेंडर मैनेज, भू-माफियागिरी समेत तमाम किस्म के अपराध में परिलक्षित हो रहा है. दयानंद हत्या कांड में जदयू विधायक रिंकू सिंह ने अपने ठेकेदार पिता के साम्राज्य पर कोई आंच न आवे इसके लिए पुलिस को मेल में लेकर हत्या कराया है. दयानन्द वर्मा के हत्या के पूर्व से घटना स्थल पर उपस्थित पुलिस चाहती तो हत्या नहीं होती या हत्यारे पकड़ लिए जाते. किन्तु पुलिस हत्या होते और हत्यारों को भागते हुए देखतीं रहीं. 

अगर जनता की सक्रियता नहीं होती तो एक आरोपी और विधायक के पिता के कंपनी के गाड़ी का नंबर प्लेट नहीं मिलता और हत्यारे बच जाते. जांच दल ने बगहा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कैलाश प्रसाद, नौरंगिया थाना प्रभारी समेत वहां कार्यरत पुलिस कर्मियों को तत्काल निलंबित करने की मांग किया है. राव ने आगे बताया है कि जांच दल का मानना है कि विधायक की तत्काल गिरफ्तारी कर विधानसभा सदस्यता समाप्त की जाय, नहीं तो जांच प्रभावित होगा. आगे कहा कि जांच दल यह मांग कर रही है कि मृत दयानन्द वर्मा कि पत्नी को सरकारी नौकरी, बीस लाख मुआवजा, बच्चों के पढाई का खर्च और परिवार की सुरक्षा की गारंटी सरकार दें. उन्होंने कहा कि जांच दल बिहार सरकार से यह मांग करती है कि विधायक की विधानसभा सदस्यता रद्द कर गिरफ्तारी हो और बगहा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कैलाश प्रसाद, नौरंगिया थाना प्रभारी समेत वहा कार्यरत पुलिस कर्मियों को तत्काल निलंबित किया जाय. आगे बताया कि उक्त मांग को लेकर बगहा अनुमंडल पदाधिकारी के समक्ष 24 फरवरी को धरना प्रदर्शन किया जाएगा. जांच दल ने जनता को न्याय की लड़ाई में शामिल होने का आह्वान किया. 

बगहा से माधवेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News