अब पीजिए गधी का दूध, चौंकिए मत…7000 रुपये लीटर मिलेगा, जानिए इसके फायदे

अब पीजिए गधी का दूध, चौंकिए मत…7000 रुपये लीटर मिलेगा, जानिए इसके फायदे

DESK: आपने अब तक गाय भैंस और बकरी का दूध पिया होगा या उसके दूध के सेवन के बारे में भी सुना होगा ,लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि देश में पहली बार गधी का दूध भी बिकने वाला है और इसके 1 लीटर दूध की कीमत होगी  ₹7000.चौंक गये न  जी हां अब गाय भैंस बकरी के दूध की डेरी के साथ जल्द ही गधी के दूध की डेरी भी शुरू होने वाली है .

मीडिया रिपोर्ट्स की मायने तो देश में राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान केंद्र हिसार में गधी के दूध की डेरी शुरू होने जा रही है.एनआरसीई में हिसार नस्ल की गधी के दूध की डेरी शुरू होने वाली  हैं. जिसके लिए एनआरसीई ने   10 हलारी नसल  की गधियों को मंगाया था  और अब उनकी ब्रीडिंग की जा रही है. हम आज तक गधे का मजाक का पात्र समझते थे लेकिन अब गधी का दूध पिएंगे क्योंकि गधी का दूध इंसानों के लिए ना सिर्फ फायदेमंद होता है, बल्कि शरीर के इम्यून सिस्टम को ठीक करने में भी बहुत बड़ी भूमिका निभाता है.

हलारी नस्ल की गधे की प्रजाति गुजरात में पाई जाती है .इन प्रजाति के गधी के दूध को दवाइयों का खजाना माना जाता है. हलारी  नस्ल की गधी के दूध से  कैंसर ,मोटापा एलर्जी जैसी बीमारियों से लड़ने की क्षमता होती है .कई बार गाय ,भैंस के दूध से छोटे बच्चों को एलर्जी की शिकायत होती है मगर हलारी  नस्ल की गधी के दूध से बच्चों को भी कोई एलर्जी नहीं होती .हलारी नस्ल की गधी के दूध में एंटी ऑक्सीडेंट एंटी  एजिंग तत्व पाए जाते हैं और दूध में फैट भी  नाम मात्र का होता है .बता दें की गधी के दूध पर शोध  का काम है NRCE  के पूर्व डायरेक्टर बीएन त्रिपाठी ने शुरू कराया था.

 हलारी नस्ल की गधी की ब्रांडिंग के बाद डेरी का काम जल्दी शुरू हो जाएगा .गधी का दूध बाजार में 2000 से लेकर ₹7000 प्रति लीटर तक में बिकता है. इससे ब्यूटी प्रोडक्ट्स भी बनाए जाते हैं जो काफी ज्यादा महंगे होते  हैं. गधी के दूध से साबुन ले बाम बॉडी लोशन तैयार किए जा रहे हैं .डेरी शुरू करने के लिएNRCE ने हिसार के केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र करनाल के नेशनल डेहरी रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों की भी मदद ली जा रही है

Find Us on Facebook

Trending News