धड़क REVIEW: ईशान-जाह्नवी का मासूम इश्क नहीं बन पाया ब्लॉकबस्टर

धड़क REVIEW: ईशान-जाह्नवी का मासूम इश्क नहीं बन पाया ब्लॉकबस्टर

श्रीदेवी की बड़ी बेटी जाह्नवी कपूर, शहीद कपूर के भाई ईशान के साथ सैराट की रीमेक धड़क में डेब्यू कर रही है. दोनों स्टार किड से लोगों ने काफी उम्मीदें लगा रखी थी खासकर जाह्नवी से. एक्टिंग की बात करें तो ईशान ने पहले इंटरनैशनल फेम डायरेक्टर माजिद की फिल्म 'बियॉन्ड इ क्लाउड' में अपनी प्रतिभा का लोहा दर्शकों और क्रिटिक्स ने मनवा ही चुके हैं और इस मूवी में भी उन्होंने बिहतरीन एक्टिंग की है. जाह्नवी हालांकि ईशान के सामने थोड़ी फीकी पड़ गई.

DHADAK-MOVIE-REVIEW-READ-HERE2.jpg

फिल्म में ऑनर किलिंग की वहीं पुरानी कहानी को नए कलाकारों के साथ पेश किया गया है. फिल्म की कहानी राजस्थान के उदयपुर से शुरू होती है। जहां आशुतोष राणा एक हवेली होटल के मालिक हैं और जाह्नवी उनकी लाडली बेटी दिखाई गई है। फिल्म मराठी फिल्म सैराट का रीमेक है और इसलिए आर्ची की तरह धड़क में जाह्नवी को थोड़ा बोल्ड लुक देने की कोशिश की गई है। बाइक चलाना, लड़कियां के गैंग के साथ चलना, लड़कों पर हुकुम चलाना आदि.

लेकिन जाह्नवी पर ये अंदाज़ नहीं सूट कर रहा. वहीं ईशान के पिता एक छोटे से रेस्तरां के मालिक हैं और ईशान पढ़ाई के साथ-साथ उसी में उनकी मदद करता है, शुरुआत के डेढ़ घंटे ईशान जाह्नवी को इंप्रेस करने में ही निकाल देता है। 

DHADAK-MOVIE-REVIEW-READ-HERE3.jpg

फिल्म का सेकेंड हॉफ एक कहानी के साथ खड़ा होता है। ईशान और जाह्नवी के संघर्ष को दिखाता है और वहीं आज भी गावों में चली आ रही ऑनर किलिंग की कहानी को बयां करता है. कहानी वहीं पुरानी है लेकिन एक्टिंग और डायरेक्शन के दम पर इसे हिट किया जा सकता था, लेकिन डायरेक्टर चूंक गए.  मूवी को 3 स्टार मिले हैं 

Find Us on Facebook

Trending News