BPSC पेपर लीक कांड सुलझाने के करीब पहुंची ईओयू की टीम, मामले में कर सकती है बड़ा खुलासा

BPSC पेपर लीक कांड सुलझाने के करीब पहुंची ईओयू की टीम, मामले में कर सकती है बड़ा खुलासा

PATNA : एक सप्ताह पहले 67वीं बीपीएससी परीक्षा पेपर लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) सुलझाने के करीब पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि मामले में आज जांच टीम बड़ा खुलासा कर सकती है।

आईएएस को पेपर सेंड करनेवाला गिरफ्तार

बीपीएसपी की प्रारंभिक परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) की एसआईटी ने उस शख्स को गिरफ्तार कर लिया है जिसने आईएएस अधिकारी रंजीत कुमार सिंह को वायरल प्रश्न पत्र भेजा था। ईओयू के सूत्रों के अनुसार उस शख्स से लगातार पूछताछ चल रही थी और शुक्रवार को ईओयू में आईएएस अधिकारी से उस शख्स से जुड़ी कई जानकारियां हासिल की गई थीं।  ईओयू की यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। 

पेपर लीक करनेवाले गैंग के करीब पहुंची टीम

सूत्रों के अनुसार ईओयू ने इस प्रकरण में गैंग को डिटेक्ट कर लिया है और जल्द ही वह इसका खुलासा कर देगी। अब तक हुई जांच में पेपर लीक मामले में एक बड़े गैंग के शामिल होने की बात सामने आई है।

इसके पहले प्रश्न पत्र लीक मामले में आरा के कुंवर सिंह कॉलेज के प्रिंसिपल-सह-सेंटर सुपरिटेंडेंट डॉ.योगेन्द्र प्र.सिंह, कॉलेज में सेंटर पर प्रतिनियुक्त स्टैटिक मैजिस्ट्रेट-सह बड़हरा के प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) जयवर्द्धन गुप्ता, कॉलेज के व्याख्याता-सह कंट्रोलर सुशील कुमार सिंह और व्याख्याता-सह-सहायक सेंटर सुपरिटेंडेंट अगम कुमार को 10 मई को गिरफ्तार किया था। 

गौरतलब है कि 8 मई को बीपीएसपी की संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा के पहले ही प्रश्न पत्र लीक हो गया था और सोशल मीडिया में वायरल भी किया गया था। मामले की जांच के बाद बीपीएससी ने परीक्षा रद्द करने की घोषणा कर दी थी और आर्थिक अपराध इकाई के साइबर सेल को जांच की जिम्मेवारी सौंपी गई। 

Find Us on Facebook

Trending News