राहुल के वादे पर बीजेपी का वार, जेटली बोले- कांग्रेस ने 7 दशकों से देश को घोखा दिया

राहुल के वादे पर बीजेपी का वार, जेटली बोले- कांग्रेस ने 7 दशकों से देश को घोखा दिया

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा सरकार बनने पर गरीबों को 72 हजार रुपये सालाना देने के वादे पर केंद्रीय वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता अरूण जेटली ने करारा हमला बोला है। जेटली ने कहा है कि कांग्रेस ने सात दशकों से देश को सिर्फ धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा योजनाओं के नाम पर सिर्फ छल-कपट किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का इतिहास गरीबी हटाने के नाम पर सिर्फ राजनीतिक व्यवसाय करने का रहा है। कांग्रेस ने गरीबी हटाने के लिए कभी संसाधन भी नहीं दिए।

वित्त मंत्री जेटली ने कहा कि राहुल गांधी की न्याय योजना महज एक चुनावी धोखा है। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने विपक्ष पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि जिन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें नहीं हैं, वहां इन योजनाओं को लागू क्यों नहीं किया जा रहा है।

छल कपट का कांग्रेस का इतिहास

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी ने इशारा किया कि देश के न्यूनतम बीस प्रतिशत लोगों को आमदनी प्रतिशत के रूप में देगी। जिनकी आमदनी 12,000 रुपए से नीचे है, उनका बकाया हम पूरा करेंगे। कांग्रेस गरीबी हटाने के नाम पर छल कपट करती रही है। कांग्रेस गरीबी हटाने के नाम पर चुनाव जीतती है लेकिन गरीबी वितरित करने का रिकॉर्ड रहा है।

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी का एक इतिहास गरीबी और गरीबी हटाने के नाम पर व्यवसाय करने का रहा है। उनका इतिहास गरीबी हटाने के नाम नहीं रहा है। गरीबी हटाने के साधन पर भी उनका ध्यान नहीं रहा है। योजनाओं के नाम पर छल कपट रहा है।

अरुण जेटली ने कहा कि पंडित जी के जमाने में विकास दर 3.50 फीसदी थी। जो उनका आर्थिक मॉडल था जिसे विश्व हिंदू रेट ऑफ ग्रोथ बोलकर मखौल उड़ाता था। इंदिरा जी 1971 में चुनाव जीती थीं। गरीबी हटाना उनका मुख्य नारा था। लेकिन उन्होंने गरीबी हटाने के लिए मुख्य मुद्दों पर ध्यान नहीं दिया।

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस की योजना पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि आज केंद्र सरकार की 55 विभागों की योजनाओं के लाभार्थियों को डीबीटी के माध्यम से बैंक के खाते में सीधे लाभ दे रहे हैं। राहुल गांधी द्वारा किये गये ऐलान से 1.5 गुना ज्यादा हम पहले से डीबीटी के माध्यम से गरीबों को दे रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News