गांव के युवा ने समझा वृद्ध लोगों का दर्द, खड़ा कर दिया बांसों का बना आश्रम

गांव के युवा ने समझा वृद्ध लोगों का दर्द, खड़ा कर दिया बांसों का बना आश्रम

किशनगंज। शहरों में वृद्धाश्रम का होना सामान्य है, लेकिन शायद ही कभी यह देखा गया होगा कि किसी गांव में वृद्धों के लिए आश्रम की व्यवस्था की जाएगी। किशनगंज का एक गांव आजकल यहां बनाए जा रहे वृद्धाश्रम को लेकर चर्चा में बना हुआ है। यहां रहनेवाले एक युवक ने बुजुर्गों के साथ होनेवाली समस्या को देखते हुए बांसों से बना पूरा आश्रम ही तैयार करा दिया है।

 मजबूत इरादें और बुलंद हौसले हो तो इंसान जो करना चाहे कर सकता है और अगर बात सामाजिक कार्य की हो तो समाज के लोग भी मदद और सहयोग करते है जैसे शहरों में सरकार या संस्था के द्वारा वृद्धा आश्रम बनाए जाते हैं। वहीं पोठिया प्रखंड अन्तर्गत मिर्जा पुर पंचायत के रहने वाला युवा मेहरुद्दीन ने समाज के लोगों की मदद से एक कच्चा बास-फुस का वृद्धा आश्रम बनवाया, यह आश्रम पंचायत के राजवंशी टोला में बना है

  जब न्यूज4नेशन ने युवा मेहरुद्दीन से इस कार्य  को लेकर पूछा कि गांव में इस तरह की आश्रम की जरूरत क्यों आन पड़ी तो उन्होंने बताया कि हम हमेशा से ही सामाजिक कार्य करते हैं और समाज के लोगों की दर्द को समझे है हमने देखा कि बूढ़ा हो जाने के बात घर मे रहकर घुटन हो जाता है। वहीं लोगों लोग अगर आश्रम में आकर बैठेंगे तो यही उनके हमउम्र के लोगों का साथ बात चीत करेंगे जिससे उनका मन लगा रहे और अच्छा अनुभव करें।

Find Us on Facebook

Trending News