ऐतिहासिक गांधी मैदान में राज्यपाल ने किया ध्वजारोहण, कहा - कोरोना महामारी में राज्य सरकार ने किया शानदार काम, बीमारी से राहत में रहे सबसे आगे

 ऐतिहासिक गांधी मैदान में राज्यपाल ने किया ध्वजारोहण, कहा - कोरोना महामारी में राज्य सरकार ने किया शानदार काम, बीमारी से राहत में रहे सबसे आगे

पटना। बिहार में आज 26 जनवरी यानि मंगलवार को गणतंत्र दिवस शानोशौकत के साथ मनाया जा रहा है। प्रदेश के सभी जिलों में सरकारी संस्थानों और निजी संस्थानों में शान से तिरंगा लहराया जाएगा। बिहार में गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह गांधी मैदान में हो रहा है। कड़ी सुरक्षा के बीच गांधी मैदान में राज्यपाल फागू चौहान सुबह नौ बजे झंडा फहराया।  

गांधी मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में उन्होंने देशवासियों तथा प्रदेशवासियों को 72वें गणतंत्र दिवस की बधाई दी। उन्होंने अपने संबोधन में 2020 के कोरोना महामारी का जिक्र करते हुए कहा इसमें  बीमारी ने संसार को प्रभावित किया पूरा देश और बिहार भी इससे प्रभावित हुआ। राज्य सरकार ने बीमारी की रोकथाम के लिए शुरू से ही प्रभावी कदम उठाए और केंद्र के लॉकडाउन के नियमों का सख्ती से पालन कराया। जिस पर राज्य सरकार ने लगभग 10,000 करोड़ रुपए खर्च किए। केंद्र सरकार से भी आर्थिक सहायता प्राप्त हुई।  राज्यपाल ने राज्य में कोरोना वायरस से बचाव के लिए की गई व्यवस्था का जिक्र करते हुए बताया कि राज्य सरकार ने बीमारी से लड़ने के लिए कोरोना नियमों का सख्ती से पालन कराया। इस दौरान महामारी से लोगों को राहत पहुंचाने के लिए सभी प्रकार के जरूरी कदम उठाए। जिसमें अब तक राज्य सरकार अब तक ₹10000 करोड़ की राशि खर्च कर चुकी है वहीं केंद्र सरकार से भी आर्थिक सहायता मिली है। महामहिम ने बताया कि अभी प्रति दस लाख की आबादी पर 1.58 लाख लोगों की जांच की जा रही है जो कि राष्ट्रीय औसत से 20000 अधिक है।  वहीं कोरोनावायरस 98% से भी अधिक है जो कि देश में सबसे अधिक है।

महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए सजग

72 वें गणतंत्र दिवस पर अनुच्छेद के बाद राज्यपाल फागू चौहान ने राज्य के नाम अपने संबोधन में बिहार सरकार के जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा दलित महादलित आदिवासी अति पिछड़ा अल्पसंख्यक तथा महिलाओं के लिए विशेष कल्याणकारी कार्यक्रम चला रही है सरकार की रणनीति उन सभी नागरिकों को सशक्त बनाने की रही है जो तुलनात्मक रूप से वंचित हैं और हाशिए पर हैं

राज्यपाल ने कहा कि राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के प्रति संवेदनशील है। यह सरकार  प्रमुख नीतियों का अभिन्न अंग है। सर्वप्रथम पंचायती राज संस्थाओं एवं नगर निकाय तथा प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति में महिलाओं को 50% आरक्षण दिया गया। साथ ही राज्य की सभी नौकरी महिलाओं को 35% आरक्षण दिया जा रहा है। जिनका के माध्यम से 1.20 करोड़  से अधिक परिवार की महिलाएं रोजगार से जुड़ चुकी है उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बिहार में उद्योगों के विकास के लिए भी तत्पर है। राज्य में औद्योगिक विकास एवं रोजगार के अवसर पैदा करने हेतु नई संशोधित औद्योगिक प्रोत्साहन नीति 2020 लागू की गई है साथ ही कृषि आधारित उद्योग एवं कास्ट आधारित उद्योगों को प्रोत्साहन देने हेतु नई नीति बनाई गई है  सरकार के इन प्रयासों से प्राथमिक एवं अति प्राथमिक क्षेत्रों में उद्योग लगाने में सहायता मिलेगी और युवाओं के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे।

परेड की ली सलामी

बता दें कि गांधी मैदान में होने वाले राजकीय समारोह में एनसीसी, पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों की 17 टुकड़ियां परेड में भाग ले रही हैं। परेड में सशस्त्र सैन्य बल, सीआरपीएफ, एसएसबी, आईटीबीपी, एसटीएफ, बीएमपी-1, बीएमपी महिला, जिला सशस्त्र बल, होमगार्ड शहरी, एनसीसी, आर्मी, एनसीसी, एयरफोर्स, एनसीसी नेवी, श्वान दस्ता, फायरब्रिगेड का दस्ता शामिल है। वहीं इस बार परेड में ATS के जवान भी शामिल हुए। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल का स्वागत किया। परेड का नेतृत्व मेजर साहिल मसंद कर रहे हैं। दस विभागों की झांकियां निकलेंगी। उधर पटना हाईकोर्ट के 43वें मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल गणतंत्र दिवस पर पटना हाईकोर्ट परिसर के पश्चिम स्थित लॉन में सुबह दस बजे झंडोत्तोलन करेंगे। वहीं इस बार परेड में ATS के जवान भी शामिल हुए। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल का स्वागत किया।

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने आवास एक अणे मार्ग में तिरंगा झंडा फहराया। इससे पहले लोगों को संदेश देते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में आपसी भाईचारा, सद्भाव एवं शान्ति बनाये रखना है। शान्ति और सद्भाव में ही समृद्घि और प्रगति है। उधर बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने विधानसभा परिसर में झंडोत्तोलन किया।


Find Us on Facebook

Trending News