व्यक्ति के पेट में मिला शीशे का ग्लास, ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर टीम हैरान, जानिए कैसे पहुंचा शरीर के अंदर

व्यक्ति के पेट में मिला शीशे का ग्लास, ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर टीम हैरान, जानिए कैसे पहुंचा शरीर के अंदर

MUZAFFARPUR : मुज़फ़्फ़रपुर शहर के माड़ीपुर स्थित एक निजी नर्सिंग होम में ऑपरेशन के दौरान हैरान कर देने वाला दृश्य सामने आया जब एक 55 वर्षीय मरीज का ऑपरेशन कर डॉक्टरों ने उसके पेट से शीशे का ग्लास बाहर निकाला। तो सब हैरान हो गया। ग्लास मलद्वार और आंत में फंसा था, जिसे पहले मलद्वार के रास्ते निकालने की काफी कोशिश की गयी, लेकिन डॉक्टरों की टीम इस मे नाकाम हो गई, इसके बाद चीर फाड़कर पेट में फंसे शीशे की ग्लास को निकाला गया। मरीज बिहार के वैशाली जिले के महुआ का रहने वाला है। 

ऑपरेशन करने वाले शहर के सीनियर सर्जन डॉ महमुदुल हसन ने बताया कि उनके पास कुछ दिन पहले एक मरीज शौच नहीं होने और पेट में दर्द की शिकायत लेकर पहुंचा था। जांच के दौरान शंका हुई, तब हमने उसका अल्ट्रासाउंड और एक्स-रे करवाया। जिस साइज का ग्लास निकला है, वह मुंह के रास्ते पेट में कभी भी नहीं जा सकता है। मरीज का कहना है कि चाय पीने वाला ग्लास है जो मुंह के रास्ते गया है, लेकिन यह थ्योरी बिल्कुल ही गलत है। वह ग्लास मलद्वार से ही पेट के अंदर गया होगा। 

ऑपरेशन कर गिलास को निकाला बाहर

लगभग ढाई घंटे तक ऑपरेशन करने के बाद ग्लास को बाहर सफलता पूर्वक निकाला गया। ऑपरेशन के दौरान ग्लास का हिस्सा थोड़ा टूट भी गया था, जिसे सावधानी के साथ निकाल दिया गया है,फिलहाल, मरीज स्वस्थ है। उसे दो दिनों के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी जायेगी। मलद्वार और आंत में फंसे गिलास को निकालने के लिए मरीज का एक अलग मलद्वार भी बनाया गया है, मरीज उसी मलद्वार से ही 6 से 7 हफ्तों तक शौच करेंगे, जहाँ ऑपरेशन किया गया घाव पूरी तरह ठीक हो जायेगा। फिर से ऑपरेट कर बनाये गये मलद्वार को बंद कर दिया जायेगा। डॉक्टर ने इस तरह का दुर्लभ ऑपरेशन होने का दावा किया है। शहर के डॉक्टरों में यह काफी चर्चा का विषय बना हुआ है।

Find Us on Facebook

Trending News