बिहार में ‘साहब’ बनने वालों के लिए खुशखबरी, बीपीएससी में हुए दो बड़े बदलावों के बारे में जानिए सबकुछ

बिहार में ‘साहब’ बनने वालों के लिए खुशखबरी, बीपीएससी में हुए दो बड़े बदलावों के बारे में जानिए सबकुछ

पटना. बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन यानी बीपीएससी में सीटों की संख्या बढ़ा दी गई है. बीपीएससी में हुए इस बड़े बदलाव से राज्य के युवाओं को अब ज्यादा सीटों पर मौके मिलेंगे. हालाँकि सीटों में हुई बढ़ोत्तरी 67वीं बीपीएससी में मान्य है. 

बीपीएससी में हुए दो प्रमुख बदलावों में जहाँ 67वीं बीपीएससी में सीटों की संख्या बढ़ाकर 798 हो गई है वहीं 66वीं बीपीएससी में सीटों की संख्या घट गई है. 66वीं परीक्षा में 2 पद कम किए गए हैं, जबकि 67वीं परीक्षा में 4 सीटों को बढ़ाया गया है. 66वीं परीक्षा में ईख पदाधिकारी के दो पदों को आयोग ने घटाए हैं. 67वीं परीक्षा में गृह विभाग के चार पदों को जोड़ा गया है. इस बारे में बीपीएससी ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. 

67वीं परीक्षा में प्रोबेशन पदाधिकारी और कारा के चार पदों को जोड़ा गया है. चार पदों को जोड़ने से 67वीं बीपीएससी में सीटों की संख्या बढ़ाकर 798 हो गई है. हालाँकि 66वीं में ईख पदाधिकारी के दो पदों को घटाने के कारण मात्र 689 पदों पर नियुक्ति होगी. 

सूत्रों के अनुसार 66वीं मुख्य परीक्षा का परिणाम जनवरी 2022 के पहले हफ्ते में आ सकता है. वहीं 67वीं पीटी के लिए पहले 555 सीट के लिए वैकेंसी थी. बाद में इसे बढ़ाकर 726 किया गया जिसके बाद 68 सीटें और बढ़ाकर 794 किया गया. अब इसमें चार और सीटों को जोड़ने से कुल संख्या 798 हो गई है..

Find Us on Facebook

Trending News