बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां
  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां

  • जमुई के टीआर नारायण हेरिटेज प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया पहला वार्षिकोत्सव, बच्चों ने दी एक से बढ़कर एक प्रस्तुति
  • जमुई के टीआर नारायण हेरिटेज प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया पहला वार्षिकोत्सव, बच्चों ने दी एक

  • परिवार से फ्लैट खाली कराने में गुंडों की सहायता लेना कंकड़बाग थाने को पड़ा भारी, दोषी पुलिसकर्मी अपने पॉकेट से देंगे पीड़ित को मुआवजा, हाईकोर्ट का निर्देश
  • परिवार से फ्लैट खाली कराने में गुंडों की सहायता लेना कंकड़बाग थाने को पड़ा भारी, दोषी पुलिसकर्मी अपने

  • सीएम नीतीश ने जल संसाधन विभाग के 1,094 योजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास, 3,420 करोड़ रुपये की आएगी लागत
  • सीएम नीतीश ने जल संसाधन विभाग के 1,094 योजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास, 3,420 करोड़ रुपये की

  • प्रधानमंत्री एक साथ देश भर में अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत 554 स्टेशनों के पुनर्विकास का करेंगे शिलान्यास, ECR के 23 स्टेशन भी शामिल
  • प्रधानमंत्री एक साथ देश भर में अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत 554 स्टेशनों के पुनर्विकास का करेंगे

  • समता के प्रवर्तक संत रविदास की 647 वीं जयंती पर पटना महावीर मन्दिर में कार्यक्रम
  • समता के प्रवर्तक संत रविदास की 647 वीं जयंती पर पटना महावीर मन्दिर में कार्यक्रम

  • सीएम नीतीश ने सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट और अन्य सौदर्यीकरण कार्य का किया लोकार्पण, 115 करोड़ रूपये आई है लागत
  • सीएम नीतीश ने सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट और अन्य सौदर्यीकरण कार्य का किया लोकार्पण, 115 करोड़

  • रजनीकांत की चोरी हुई स्कॉर्पियो को पुलिस ने 48 घंटे में खोजा, चार शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार
  • रजनीकांत की चोरी हुई स्कॉर्पियो को पुलिस ने 48 घंटे में खोजा, चार शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार

  • स्पीड पोस्ट के जरिए सरकारी स्कूल शिक्षक ने डॉक्टर से मांगी पांच लाख की रंगदारी, पूर्व में रेलवे को उड़ाने की दे चुका है धमकी
  • स्पीड पोस्ट के जरिए सरकारी स्कूल शिक्षक ने डॉक्टर से मांगी पांच लाख की रंगदारी, पूर्व में रेलवे

  • सीतामढ़ी में जिला जदयू की बैठक, एनडीए को बिहार के सभी 40 सीटों पर जीत दिलाने का लिए   " सेवन मैन बूथ कमिटी "का निर्माण का संकल्प
  • सीतामढ़ी में जिला जदयू की बैठक, एनडीए को बिहार के सभी 40 सीटों पर जीत दिलाने का लिए

अनुसूचित जनजाति बालिका स्कूल की दयनीय हालत पर सुनवाई पटना हाई कोर्ट में दो सप्ताह बाद

अनुसूचित जनजाति बालिका स्कूल की दयनीय हालत पर सुनवाई पटना हाई कोर्ट में दो सप्ताह बाद

पटना. पटना हाइकोर्ट में राज्य के राज्य के पश्चिम चम्पारण स्थित हारनाटांड में अनुसूचित जनजाति बालिकाओं के एकमात्र स्कूल की दयनीय हालत पर सुनवाई दो सप्ताह की जाएगी।चीफ जस्टिस के वी चन्द्रन की खंडपीठ ने बिहार आदिवासी अधिकार फोरम की जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही है। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने  राज्य में बड़ी संख्या में अनुसूचित जनजाति के छात्रों द्वारा स्कूल की पढ़ाई बीच में छोड़ दिए जाने के मामले को गम्भीरता से लिया था।।कोर्ट ने इस जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए बिहार लीगल सर्विसेज़ अथॉरिटी (बालसा) से रिपोर्ट तलब किया था।

कोर्ट ने बालसा को ये बताने को कहा था कि कितने बच्चों ने स्कूलों की पढ़ाई छोड़ दी है और कितने बच्चों ने दोबारा इन स्कूलों में जाना शुरू किया है ? बिहार आदिवासी अधिकार फोरम की लोकहित याचिका दायर की थी। कोर्ट ने इस मामलें पर सुनवाई करते हुए चिंता जताते हुए ये जानना चाहा था कि इन बच्चों की पढ़ाई के लिए राज्य सरकार द्वारा क्या कार्रवाई की गई है। इसके साथ साथ कोर्ट ने बालसा के एक सदस्य को लिए पश्चिम चम्पारण के हारनाटांड में स्थित स्कूल एवं कस्तूरबा गांधी विद्यालयों के विकास से संबंधित रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया था। गौरतलब है कि हाईकोर्ट इस मामले में लगातार मॉनिटरिंग कर रहा है । 

इस मामले में पहले भी हाईकोर्ट ने वकीलों की एक टीम गठित कर निरीक्षण करने का निर्देश दिया था । इस टीम में अधिवक्ता सूर्या नीलांबरी, अधिवक्ता आकांक्षा मालवीय , अधिवक्ता आयुष अभिषेक एवं अन्य अधिवक्ता शामिल थे । याचिकाकर्ता के अधिवक्ता  ने कोर्ट को बताया था कि बिहार में अनुसूचित जनजाति के बालिकाओं के लिए पश्चिम चम्पारण के हारनाटांड एकमात्र स्कूल है।पहले यहाँ पर कक्षा एक से लेकर कक्षा दस तक की पढ़ाई होती थी। लेकिन जबसे इस स्कूल का प्रबंधन राज्य सरकार के हाथ में आया तबसे इस स्कूल की स्थिति बदतर होती गई।कक्षा सात और आठ में छात्राओं का एडमिशन बन्द कर दिया गया। 

साथ ही कक्षा नौ और दस में छात्राओं का एडमिशन पचास फीसदी ही रह गया।इस स्कूल में पर्याप्त संख्या में शिक्षक भी नहीं है।इस कारण छात्राओं की पढ़ाई बुरी तरह प्रभावित हुई है। इस मामले पर अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद  होगी।