इनके लिए कैसा होगा आजादी का जश्न : 15 जिलों के 570 पंचायत के 20 लाख लोग बाढ़ में बुरी तरह से घिरे, सात लोगों की मौत

इनके लिए कैसा होगा आजादी का जश्न :  15 जिलों के 570 पंचायत के 20 लाख लोग बाढ़ में बुरी तरह से घिरे, सात लोगों की मौत

PATNA : बिहार में बाढ़ से हालात लगातार बद्तर होते जा रहे हैं. हालात यह है कि राजधानी पटना सहित सूबे के 15 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं। इन जिलों के 86 ब्लॉक के 570 पंचायत बाढ़ से डूब गए हैं। जिसके कारण 20 लाख से ज्यादा की आबादी बुरी तरह प्रभावित हैं। यह सरकार के अधिकृत आंकड़ें हैं, हकीकत इससे ज्यादा बुरी है। जिनके लिए राहत कार्य तेजी से किए जा रहे हैं।

बिहार के आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार जो जिले बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं, उनमें पटना, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, खगड़िया, सहरसा, वैशाली, भोजपुर, लखीसराय, भागलपुर, सारण, बक्सर, बेगूसराय, कटिहार, मुंगेर व समस्तीपुर शामिल हैं। इन जिलों में 86 प्रखंड के अंतर्गत आनेवाले 570 पंचाचतों के 1491 गांव बाढ़ में डूब गए हैं। बताया गया कि यहां प्रभावितों की कुल संख्या 20.41 लाख है। 

तेज से चल रहे हैं राहत बचाव कार्य

आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार प्रभावित जिलों में तेजी से राहत बचाव कार्य किया जा रहा है।   जिसमें शनिवार को 31 राहत शिविरों में नौ हजार से अधिक लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है। इसी तरह बाढ़ प्रभावितों के लिए 254 सामुदायिक किचन का संचालन किया जा रहा है, जिसमें शनिवार को 142287 लोगों को सुबह शाम भोजन की व्यवस्था की गई। 

बाढ़ में सात लोगों की हुई मौत 

आपदा प्रबंधन के अनुसार बाढ़ से बचाव के लिए एनडीआरफ की 8 और एसडीआरफ की 9 टीमें काम कर रही हैं। इसके अलावा 1948 नावों का परिचालन बाढ़ प्रभावित इलाकों में किया जा रहा है। हालांकि इन सबके बाद भी शनिवार को सात लोगों की मौत हो गई है। विभाग के अनुसार इस दौरान बाढ़ से हुए फसलों का नुकसान का आकलन किया जा रहा है।

कैसे मनेगा आजादी का जश्न

ऐसे समय में जब सारा देश आजादी का जश्न मना रहा होगा, बिहार के बाढ़ प्रभावित जिलों के लाखों लोगों के लिए इस जश्न का मतलब सिर्फ खुद को बचाए रखने की लड़ाई से जूझना होगा, जिसे वह कई दशकों से झेल रहे होंगे, इनके लिए आजादी तब ही होगी, जब हर साल आनेवासी बाढ़ से मुक्ति मिलेगी

Find Us on Facebook

Trending News