राष्ट्रपति को ‘राष्ट्रपत्नी’ कहने वाले अधीर रंजन की दो टूक- माफी मांगूंगा लेकिन इन ‘पाखंडियों' से नहीं

राष्ट्रपति को ‘राष्ट्रपत्नी’ कहने वाले अधीर रंजन की दो टूक- माफी मांगूंगा लेकिन इन ‘पाखंडियों' से नहीं

DESK. लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में की गई अपनी एक टिप्पणी पर सफाई देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि उनके मुंह से चूकवश एक शब्द निकल गया और भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए वह इसे उठा रही है। बाद में संसद के बाहर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा किमैं एक बंगाली हूं, हिंदी बहुत अच्छी नहीं आती, मैंने गलती की है, मैं इसे स्वीकार करता हूं। उन्होंने कहा कि मैंने राष्ट्रपति से समय मांगा है, उनसे माफी मांगूगा, लेकिन इन ‘पाखंडियों' से नहीं।

इससे पहले उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के पद पर चाहे किसी भी समुदाय का व्यक्ति आसीन हो, वह उसका पूरा सम्मान करते हैं। चौधरी ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में राष्ट्रपति के लिए ‘राष्ट्रपत्नी' शब्द का उपयोग कर दिया था। भाजपा सदस्यों ने बृहस्पतिवार को संसद के दोनों सदनों में इस विषय को लेकर हंगामा किया और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से माफी की मांग की। 

कांग्रेस नेता चौधरी ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘देश का राष्ट्रपति जो भी हो, चाहे वह ब्राह्मण हो, या आदिवासी, हमारे लिए राष्ट्रपति हैं। पद की गरिमा का पूरा सम्मान है।' उन्होंने कहा, ‘कल पत्रकारों से बातचीत में यह शब्द एक बार चूक से निकल गया। उसी समय पत्रकार ने मुझे कहा कि आप ‘राष्ट्रपति' कहना चाहते हैं। मैंने कहा कि (यह शब्द) चूकवश निकल गया, इसे नहीं दिखाएंगे तो बेहतर होगा। इसके बाद भी पत्रकार ने इस वीडियो को चलाया।' 

चौधरी ने कहा, ‘मुझसे चूक हुई। एक शब्द निकल गया। भाजपा के लोग इसके लिए बवाल कर रहे हैं। भाजपा के पास कुछ बोलने के लिए नहीं हैं तो कुछ भी निकाल लेते हैं।'

Find Us on Facebook

Trending News