मन की बात में पीएम मोदी की देशवासियों से हर घर तिरंगा अभियान और आज़ादी के अमृत महोत्सव के लिए कर दी बड़ी अपील

मन की बात में पीएम मोदी की देशवासियों से हर घर तिरंगा अभियान और आज़ादी के अमृत महोत्सव के लिए कर दी बड़ी अपील

पटना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो प्रसारण, मन की बात के 91 वें एपिसोड के माध्यम से राष्ट्र को संबोधित किया। इससे पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर देशवासियों को मन की बात कार्यक्रम के आमंत्रित किया। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कई तरह के मुद्दों पर चर्चा की।  मन की बात पर पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए अपील की कि 31 अगस्त तक पूरे देशभर के लोग हर घर तिरंगा अभियान का हिस्सा बनें। पीएम ने कहा कि इस बार का स्वतंत्रता दिवस अभियान बहुत खास है। पीएम ने अपने संबोधन में ये भी कहा कि साथियों आज़ादी के अमृत महोत्सव में हो रहे इन सारे आयोजनों का सबसे बड़ा सन्देश यही है कि हम सभी देशवासी अपने कर्तव्य का पूरी निष्ठा से पालन करें। तभी हम उन अनगिनत स्वतंत्रता सेनानियों का सपना पूरा कर पायेंगे और उनके सपनों का भारत बना पाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि इस बार भारत अपनी आज़ादी के 75 वर्ष पूरे करेगा। हम सब लोग अद्‌भुत और ऐतिहासिक पल के गवाह बनने जा रहे हैं। उन्होंने कहा, "हम सारे देशवासी 31 जुलाई यानी आज के दिन सरदार उधम सिंह की शहादत को नमन करते हैं। मुझे देखकर खुशी होती है कि 'आज़ादी का अमृत महोत्सव' जन आंदोलन का रूप ले रहा है।सभी और अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े लोग इसमें हिस्सा ले रहे हैं"।

पीएम मोदी ने कहा कि इस जुलाई में एक रोचक प्रयास हुआ है जिसका नाम 'आज़ादी की रेलगाड़ी और रेलवे स्टेशन' है। इस प्रयास का लक्ष्य है कि लोग आज़ादी की लड़ाई में भारतिय रेलवे की भूमिका को जानें। देश में अनेक रेलवे स्टेशन हैं जो स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास से जुड़े हैं। उन्होंने आगे कहा कि झारखंड के गोमो स्टेशन को अब नेताजी सुभाष चंद्र बोस जंक्शन, गोमो के नाम से जाना जाता है क्योंकि उन्होंने इसी स्टेशन से सवार होकर ब्रिटिश अफसर को चकमा दिया था। आपने काकोरी स्टेशन का नाम भी सुना होगा इस स्टेशन से राम प्रसाद बिस्मिल और अशफाक उल्लाह खान का नाम जुड़ा है।

पीएम मोदी ने कोरोना पर कहा कि कोरोना के खिलाफ आयुष ने वैश्विक स्तर पर अहम भूमिका निभाई है। दुनिया में आयुर्वेद और भारतीय औषधियों के प्रति आकर्षण बढ़ रहा है। हाल ही में, एक वैश्विक आयुष निवेश और नवाचार शिखर सम्मेलन हुआ था। इसमें करीब 10 हजार करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव मिले हैं।


Find Us on Facebook

Trending News