मोतिहारी में अधिकारियों की जांच में शिक्षा विभाग की खुली पोल, स्कूल में बच्चों के जगह मिली बकरियां, बीईओ को शिक्षक ने रजिस्टर देने से किया इंकार

मोतिहारी में अधिकारियों की जांच में शिक्षा विभाग की खुली पोल, स्कूल में बच्चों के जगह मिली बकरियां, बीईओ को शिक्षक ने रजिस्टर देने से किया इंकार

MOTIHARI : मोतिहारी में बिहार सरकार के सचिव के निर्देश पर जिला के 27 प्रखंडो के भिन्न भिन्न पंचायतों में विकास योजनाओ की जांच अलग अलग अधिकारियों द्वारा किया गया। सचिव के निर्देश पर मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल आशिक द्वारा सरकार के महत्वकांक्षी योजना नलजल, शिक्षा, पीएम आवास योजना,आईसीडीएस,जनवितरण ,कचरा प्रबंधन की पंचायत वार जांच के लिए एडीएम स्तर से लेकर एसडीओ बीडीओ व सीओ को अलग अलग पंचायत जांच के लिए अधिकृत किया गया था। 

इसी क्रम में अरेराज प्रखण्ड के ममरखा पंचायत अरेराज बीडीओ, बहादुरपुर अरेराज सीओ, पीपरा पंचायत आईसीडीएस डीपीओ व मिश्रौलिया पंचायत अरेराज एसडीओ को जांच दिया गया था। ममरखा व मिश्रौलिया पंचायत की जांच ने शिक्षा विभाग का पोल खोल दिया। ममरखा पंचायत में प्राथमिक विद्यालय गुजरौलिया उर्दू में स्कूल भवन बकरी का चारागाह बना हुआ पाया गया। वहीँ सामान उपलब्ध रहने के बाद भी एमडीएम बंद पाया गया। जबकि मिश्रौलिया पंचायत में  एसडीओ के निर्देश पर जांच करने गयी बीईओ को शिक्षक ने रजिस्टर देने से इंकार कर दिया। बच्चों ने बताया कि यहाँ कभी कभी एमडीएम बनता है। द्वय पदाधिकारी ने बताया की जांच रिपोर्ट वरीय पदाधिकारी को भेजा जाएगा।

उधर सरकार के सचिव के निर्देश पर पंचायत के जांच करने पहुचे बीडीओ स्कूल भवन में बच्चों की जगह बकरी फॉर्म देख भौचक रह गए। वही बीईओ को शिक्षक स्कूल का रजिस्टर दिखाने से इंकार कर दिया। जबकि स्कूल में गंदगी का अंबार लगा हुआ पाया गया। सरकार के सचिव व डीएम के निर्देश पर अरेराज बीडीओ अमित कुमार पण्डेय द्वारा बुधवार को अरेराज प्रखंड के ममरखा पंचायत के नलजल, पीडीएस,आंगनबाड़ी,स्कूल सहित योजनाओ का जांच किया गया.जांच के दौरान प्राथमिक विद्यालय गुरौलिया उर्दू विद्यालय में 180 नामांकित बच्चों में मात्र 50 उपस्थित पाए गए। वही 5 कमरों के वर्गकक्ष में दो में बकरी का शेड बना हुआ पाया गया। 

वही आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 105 पर मात्र 22 बच्चे उपस्थित पाए गए। पंचायत के सभी वार्डो में नलजल सुचारू पाया गया। वही एसडीओ संजीव कुमार के निर्देश पर बीईओ सुधा कुमारी द्वारा मिश्रौलिया पंचायत का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में यूएमएस मिश्रौलिया में विद्यालय शिक्षक द्वारा कोई भी पंजी नही दिखाया गया। साफ सफाई की स्थिति काफी दयनीय पायी गयी। वही बच्चों द्वारा बताया गया कि कभी कभी एमडीएम बनता है। शौचालय व किचेन शेड की स्थिति भी काफी दयनीय पायी गयी। जबकि जीपीएस बथाना की शिक्षा व्यवस्था बहुत ही सराहनीय थी। बीईओ द्वारा एमडीएम का भोजन भी बच्चों के साथ किया गया। वही अरेराज सीओ पवन कुमार झा द्वारा बहादुपुर पंचायत के विकास कार्यो का निरीक्षण किया गया। जहाँ विधुत विभाग की लापरवाही से लो वोल्टेज से वार्ड 1 से 5 तक के नलजल बंद पाया गया। वही जर्जर तार से कभी भी किसी बड़ी हादसा से इंकार नही किया जा सकता।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News