भारत-नेपाल के बीच जमीन विवाद, बिना नापी के नो मेंस लैंड पर हो रहे सड़क निर्माण को एसएसबी ने रोका

भारत-नेपाल के बीच जमीन विवाद, बिना नापी के नो मेंस लैंड पर हो रहे सड़क निर्माण को एसएसबी ने रोका

डेस्क... भारत-नेपाल के अंधरामंठ बॉर्डर पर भारतीय सीमा क्षेत्र में लग रहे हटिया को नेपाल पुलिस ने बंद करा दिया। यह हटिया रविवार और बुधवार को लगाया जाता है। वहीं, हटिया बंद करने की सूचना मिलने के बाद नो मेंस लैंड के पास नेपाल सरकार की ओर से सीमा पर बन रहे पक्की सड़क को एसएसबी के जवानों ने रोक लगा दी। इस घटना के बाद से सीमा पर नेपाल प्रहरी पुलिस और एसएसबी के बीच तनाव का माहौल व्याप्त हो गया है। 

बता दें कि रविवार और बुधवार को लग रहे हटिया को नेपाली प्रहरी पुलिस ने बंद करा दिया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि अंधरामंठ बाजार देहाती क्षेत्र के मात्र एक छोटा बाजार है। इस इलाके का लोगों को इस हटिया से घरेलू सामग्री, साग सब्जी व अन्य घरेलू सामान की लोग खरीदारी करते हैं। इस हटिया में भारतीय और नेपाल दोनों देशों के लोग सामान की खरीदारी के लिए आते हैं। इस दौरान नेपाली नागरिकों और नेपाली प्रहरी पुलिस के बीच झड़प की भी सूचना है। 

इधर, एसएसबी कैंप के जवानों ने भारत-नेपाल के बीच लौकही प्रखंड स्थित कोरीयाही गांव के समीप नेपाल सरकार की ओर से पिलर संख्या 231-232 के पास सड़क निर्माण करवाया जा रहा था, उस पर रोक लगा लिया है। जिससे भारतीय एसएसबी और नेपाली पुलिस प्रहरी के बीच तनाव पैदा हो गया हैं।


बताया जा रहा है कि नेपाल की ओर से बनवाई जा रही सड़क नो मेंस लैंड एरिया के काफी करीब बन रही है, बॉर्डर पर तैनात एसएसबी का कहना है कि नियम के मुताबिक नो मेंस लैंड एरिया के इतने करीब में पक्का निर्माण कराने से पहले निर्माणस्थल की नाप जरूरी है, जिसके लिए जिला प्रशासन को चिट्ठी लिखी गई है।

अंधरामंठ थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि कुछ दिन पहले अमीन की ओर से सीमा को नापी भी की गई थी। सोमवार को फुलपरास एसडीओ गणेश कुमार बॉर्डर पर जांच के लिए पहुंचे। एसडीओ ने बताया कि वे अपनी रिपोर्ट जिला प्रशासन मधुबनी को भेजेंगे।


Find Us on Facebook

Trending News